अब पराली जलाने वाले किसानों पर होगा मुकदमा दर्ज।

अब पराली जलाने वाले किसानों पर होगा मुकदमा दर्ज।

 

 

 

अब यदि कोई किसान खेत में पराली जलाएगा तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
मंगलवार को पराली जलाने वाले 10 किसानों पर
पुलिस ने उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया।

बताया गया कि लिल्हौरा मौजा में स्थित गाटा संख्या 81 और 91 में पराली जलाने की सूचना जब पुलिस को मिली तो पुलिस ताबड़तोड़ वहां पर पहुंच गई और पराली जलाने वाले को तथा भूस्वामी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की और गाटा संख्या 81 वा 91 के भूस्वामी चंद्र शेखर, चंद्र कुमार, उमेश चंद्र, सुरेश चंद्र तथा हरि नाम के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया और दूसरी तरफ राजस्व कर्मी शालिनी कौशल ने भी थाने में बताया की लिल्हौरा मौजा में ही नहीं राणापुर मौजा में स्थित गाटा संख्या 180 तथा 181 में भी पराली जलाने की सूचना पायी गई।

सरकार पराली जलाने वालोे को बहुत ही तेजी से पकड़ रही है ,                                                                                                                क्योंकि पराली जलाने से वायु प्रदूषित होती है, जिससे की अनेकों बीमारियां उत्पन्न हो रही हैं। वायु प्रदूषित हो जाने से लोग सांस की बीमारियों से जूझते हैं।
किसानों को  चाहिए कि फसल कट जाने के पश्चात वह उसको जलाएं ना,                                                                                                  उसकी जगह पर खेत में पानी डालकर के उसे सड़ा दे जिससे कि वह पास के रूप में तब्दील हो जाए। और उनकी जमीन को इससे फायदा भी मिले ,

लगातार मनाही के पश्चात भी पराली जलाने पर ,                                                                                                                                           पराली जलाने वालों और साथ ही खेत के भूस्वामी पर भी मुकदमा दर्ज करके अब उनपर रोक लगाई जाएगी।

Leave a Comment