आंगनबाड़ी में कार्य करने वाली महिलाओं के लिए खुशखबरी – मिलेगा अब प्राइमरी में पढ़ाने का मौका।

आंगनबाड़ी में कार्य करने वाली महिलाओं के लिए खुशखबरी – मिलेगा अब प्राइमरी में पढ़ाने का मौका।

 

आंगनबाड़ी में कार्य कर रही महिलाओं के लिए खुशखबरी है। कोविड-19 के पश्चात अब प्राइमरी स्कूलों में भी पढ़ाई प्रारंभ होगी। और प्री प्राइमरी कक्षाओं की पढ़ाई के लिए ब्लॉक स्तर पर चार संसाधन व्यक्ति नियुक्त किए जाएंगे।

जो 4 संसाधन व्यक्ति नियुक्त किए जाएंगे उनमें दो सेविका तथा एक एक आंगनबाड़ी कार्यकत्री और
एक एआरपी होंगे। और इसमें वही कार्यकत्री चुनी जाएंगी जो कि दसवीं पास होंगी। इन कार्यकत्रियों की ट्रेनिंग बहुत ही जल्द प्रारंभ होने वाली है। इनके 20 – 20 के ग्रुप बनाए जाएंगे और ट्रेनिंग स्मार्टफोन के जरिए दी जाएगी यह कार्यकत्रिया जो होंगी वह सभी दसवीं पास होंगी। और जो इंटरनेट तथा स्मार्टफोन को इस्तेमाल करना जानती हों। साथ ही यह कार्यकत्रिया वह होंगी जिन्होंने विभागीय ट्रेनिंग ली हो या फिर ट्रेनिंग दी हो, उन्हें ही पहले वरीयता दी जाएगी।

इस कार्य के लिए 6 लाख की धनराशि भी जारी की जा चुकी है। यह ट्रेनिंग तकरीबन 16.35 लाख लोगों को दी जाएगी। इस ट्रेनिंग में इन महिलाओं का 20 ,20 का समूह बनेगा और कोविड प्रोटोकॉल का पूर्ण रुप से ध्यान रखा जाएगा।और इस ट्रेनिंग में डायट मेंटर मुख्य भूमिका निभाएंगे।

यह प्रशिक्षण 4 दिन चलेगा और डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में मॉनिटरिंग कमेटी भी गठित की जाएगी।
इस ट्रेनिंग में केंद्र की खूबसूरती और उसको किस तरीके से सजाया जाए से संबंधित ट्रेनिंग देने के साथ-साथ पढ़ाने के तरीके तक पर जोर दिया जाएगा। और इस ट्रेनिंग में भावनात्मक कौशल तथा कहानी को पढ़ने के तरीके पर पूरा जोर दिया जाएगा। साथ ही कहानी के जरिए एक्सप्रेशन कैसे दिया जाए यह भी सिखाया जाएगा।

Leave a Comment