आगामी फिल्म सफाईबाज के प्रमोशन के सिलसिले में लखनऊ पहुंचे अभिनेता राजपाल यादव, कहा अगर अभिनेता ना होता तो अभिव्यक्ति का ही हिस्सा होता

लखनऊ: अपनी आगामी फिल्म सफाईबाज के प्रमोशन के  सिलसिले में बॉलीवुड के हास्य कलाकार अभिनेता राजपाल यादव लखनऊ पहुंचे। प्रमोशन के दौरान उन्होंने अपनी निजी जिंदगी की बहुत से पहलुओं को सबके सामने रखा।

अपने जिंदगी के शुरूआती दिनों के बारे में  बात करते हुए उन्होंने बताया की साल 1992 में वह शाहजहांपुर से लखनऊ आए थे। वहां उनकी रोज की शाम विधान भवन के पास चाय और बन खाकर गुजरती थी। इसके अलावा उन्होंने गोमतीनगर, कैसरबाग और पुराने लखनऊ से जुड़ी बहुत सी यादें सबके साथ साझा की। अपने अभिनय के सफर के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि भारतेंदु नाट्य अकैडमी से थिएटर करने के बाद उन्होंने मुंबई की ओर अपना कदम बढ़ाया था।

इसके अलावा अपनी आगामी फिल्म सफाईबाज के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि यह फिल्म निर्देशक डॉ अवनीश सिंह द्वारा निर्देश की गई है और इस फिल्म के लेखक भी डॉ अवनीत सिंह ही हैं।

यह कहानी मुख्य रूप से उन सफाई कर्मियों पर आधारित है जो समाज द्वारा फैलाई गई गंदगी को साफ करने के लिए गटर तक में उतरने से नहीं हिचकिचाते हैं।

इस विषय में आगे बताते हुए उन्होंने कहा कि एक सफाई कर्मी के तौर पर काम करते हुए कई लोगों ने अपनी जान तक गंवा दी। उनके अनुसार इस फिल्म का मकसद लोगों के बीच जागरूकता फैलाना है। और उन्हें पूर्ण रूप से यकीन है कि यह फिल्म अपने मकसद में कामयाब होगी। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार इस फिल्म का कुछ भाग मुंबई में शूट किया जा चुका है। वहीं कुछ भाग की शूटिंग लखनऊ में चल रही है जो बहुत ही जल्द पूरी हो जाएगी। इस फिल्म में राजपाल यादव के अलावा जॉनी लीवर, ओमकार दास, मानिकपुरी, मनप्रीत, उपासना सिंह मुख्य तौर पर अलग-अलग किरदारों की भूमिका निभाते नजर आएंगे।

जब उनसे उनके एक्टिंग करियर को लेकर पत्रकारों द्वारा सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की मुख्य रूप से वह एक एंटरटेनर है और उन्हें एक्टिंग के अलावा और दूसरा कोई काम नहीं आता। आपको बता दें इस फिल्म में उन्होंने एक सफाई कर्मी जिसका नाम धन सा है का किरदार निभाया है जिसके वजह से उन्हें एक सफाई कर्मी का जीवन जीने का मौका मिला।

हालांकि उन्होंने इस बात का भी वर्णन किया कि अगर आने वाले वक्त में उन्हें मौका मिलता है तो वह एक पत्रकार की भूमिका भी निभाना चाहेंगे। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि अगर आज के वक्त में वह अभिनेता ना होते तो अभिव्यक्ति का हिस्सा होते।

Leave a Comment