इस बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाराबंकी की तारीफ करने में न चूके।

इस बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाराबंकी की तारीफ करने में न चूके।

 

 

बाराबंकी रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में सुमन की बेहिसाब तारीफ की उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में रहने वाली सुमन ने स्वयं सहायता समूह के द्बारा
खादी के कपड़ों से मास्क बनाया और प्रधानमंत्री मोदी जी की जमकर तारीफ लूटी।

 

आइए जाने स्वयं सहायता समूह और सुमन के बारे में।

सुमन स्वयं सहायता समूह योजना की अध्यक्ष है जो कि जनपद बाराबंकी में 60 किलोमीटर दूर के ब्लाक त्रिवेदीगंज के ग्राम पंचायत हसनपुर के पुरवा गुरुदत्त खेड़ा की निवासी हैं ,सुमन वर्मा अपने परिवार के साथ रहती है और साथ ही उनकी भी जिम्मेदारी अपने कंधों पर उठाए हैं। इस तरह से वह एक कुशल ग्रहणी की भूमिका पूर्ण रूप से निभा रही है। सुमन स्वयं ही समूह की अध्यक्ष है और यह समूह उसने ही बनाया था। समूह का गठन वर्ष 2016 में सुमन ने किया था और 2019 में मिशन मैनेजर ज्योति ने समूह को यूपी के राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बाराबंकी के अंदर सम्मिलित करा जिससे की समूह का खुलकर विकास होने लगा और समूह के सदस्य काफी प्रसन्न हुए। सुमन वर्मा समूह के सभी सदस्यों का पूरी तरीके से ध्यान रखती हैं।

 

 

इसी दौरान कोरोना महामारी का हुआ प्रारंभ।

इसी दौरान कोरोना संक्रमण भी उत्पन्न हुआ और सुमन के दिमाग में इस महामारी से निपटने के लिए एक अच्छा सा सुझाव आया और तकरीबन 60 मास्क अपने पैसों से ही बना कर गांव के गरीब परिवारों को बांटे तथा इसी मास्क ने सुमन को आगे की राह दिखाई। 60 मास्क बनाने के पश्चात सुमन को इस बात के लिए गरीब परिवारों से काफी सराहना मिली। और उसे आगे की राह दिखाई पड़ी, सुमन ने बाजार से खादी के कपड़ों को खरीदकर एक मशीन खरीदी जो कि उसके ही आय के धन की थी तत्पश्चात सुमन बिना ही देरी किए हुए आगे बड़ी और इस कार्य को करने में लग गई 11 समूह के सदस्यों के साथ मिलकर उसने मास्क बनाएं तथा गांव की अन्य महिलाऔं को भी रोजगार की राह दिखाई। ये सदस्य धीरे-धीरे समूह के सदस्यों के साथ मिलकर बाजार में मास्क सप्लाई करने लगे। वर्तमान समय में दो दर्जन महिलाएं मास्क बनाकर मार्केट में सप्लाई कर रही हैं
जिससे की मास्क से आने वाली आय से समूह का केवल खर्च ही नहीं चलाता बल्कि उन महिलाओं की बेरोजगारी को भी सुमन दूर कर रही है। जो बेरोजगार होने के साथ साथ घर पर ही रह करके अपना समय व्यर्थ कर देती थी।

उपर्युक्त कार्य से प्रधानमंत्री ने रविवार को खुश होकर के मन की बात में सुमन और उनके समूह के सदस्यों के कार्य की काफी तारीफें की और उन्होंने मन की बात में कहा सुमन ने स्वयं सहायता समूह से अपने साथ की महिलाओं के साथ मिलकर कुछ खादी मास्क बना कर हजारों खादी मास्क बना डाले पीएम के मुंह से तारीफ सुनकर सुमन ही नहीं बल्कि उनके आसपास के गांव वाले भी और समूह के सदस्य इस प्रशंसा से काफी प्रसन्न हुए।

Leave a Comment