उत्तर प्रदेश में होगा आलू बहुत जल्द सस्ता और उत्पादकता में भी होगा नंबर वन ।

उत्तर प्रदेश में होगा आलू बहुत जल्द सस्ता और उत्पादकता में भी होगा नंबर वन ।

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )  वैसे तो उत्पादकता में यूपी सबसे आगे हैं परंतु इस बार आलू की उत्पादकता में भी बड़ी तादाद दिखाई पड़ेगी क्योंकि आलू की उत्तर प्रदेश में तेजी़ से खेती कराई जा रही है। और उत्तर प्रदेश से इस बार उम्मीद की जा रही है की उत्पादकता की सूची में उत्तर प्रदेश इस बार छठे स्थान से तीसरे स्थान पर मिलेगा

 

यूपी अभी तक की उत्पादकता के मामले में छठे स्थान पर था, परंतु पूरी उम्मीद जताई जा रही है कि आलू की उत्पादकता में इस बार देश दूसरे या फिर तीसरे स्थान पर होगा। अधिकारियों ने अनुमान लगाया कि आलू की उत्पादकता में उत्तर प्रदेश अगले साल तक के प्रथम स्थान पर होगा। यदि वर्तमान समय की बात की जाए तो उत्तर प्रदेश में आलू की उत्पादकता 24 दशमलव 22 टन प्रति हेक्टेयर रही है।

 

तो इसलिए पूरी तरीके से तैयारी में हम लगे हैं की 25.50 तथा 27.50 टन प्रति हेक्टेयर तक के उत्पादकता पहुंच सके। और इसके पश्चात अगले साल तक इस आंकड़े को और भी लगभग 30.00 टन प्रति हेक्टेयर पर पहुंचाने का प्रयत्न रहेगा।  फारेस्ट डिपार्टमेंट ने आलू की उत्पादकता को तेजी से बढ़ाने के लिए जिलों में समरसता किए हैं। फारेस्ट डिपार्टमेंट ने  किसानों से समरसता बनाकर के समय को निर्धारित किया और 31 अक्टूबर तक के इस को पूर्ण कर दिया जाए। यह प्रयत्न किया।

फारेस्ट डिपार्टमेंट द्वारा किया गया प्रयत्न।

फारेस्ट डिपार्टमेंट ने जिलों के किसानों से समझ सकता बना कर के 31 अक्टूबर तक के आलू की उत्पादकता को पूर्ण कर दिया जाए। यह प्रयत्न किया इसके साथ ही 28,000 बीजों की बुवाई करा दी गई है। और हर बीज का यदि वजन देखा जाए तो तकरीबन 50 ग्राम रहा। और
इस बुवाई को तीन लाइनों में रखा गया ये लाइने 28 इंच की 3 बनाई गई। और पौधे से दूसरे पौधे की दूरी 8 इंच तक के रहे यह प्रयत्न किया गया। इसके अलावा 1 एकड़ में तकरीबन 1 कुंतल दर से एनपीके प्रयोग किया गया है।

इसके साथ ही तकरीबन 1 एकड़ में 50 किलो यूरिया का इस्तेमाल किया गया है आलू के स्पेशलिस्ट के अनुसार आलू की बहुत ज्यादा उत्पादकता के लिए सबसे अच्छा वैज्ञानिक प्रयोग ही है।

 

जाने उत्पादकता की क्या है हालत?

उत्तर प्रदेश में तकरीबन 24.44 और पश्चिम बंगाल में 29.90 तथा बिहार की बात की जाए तो 25.40 और गुजरात में 28.56 और 26.10 पंजाब में। इसके साथ ही 25.50 हरियाणा की उत्पादकता है।

आइए जाने प्रदेश के जिले के बारे में आगरा तथा फर्रुखाबाद और फिरोजाबाद फतेहपुर, एटा कन्नौज, कौशांबी, बरेली बदायूं, अलीगढ़, कानपुर, प्रतापगढ़, बुलंदशहर, इलाहाबाद, उन्नाव, लखनऊ, अयोध्या, गोरखपुर, सुल्तानपुर बस्ती, बाराबंकी हाथरस और अन्य। में उत्पादकता अच्छी है इसलिए यूपी सबसे बड़ा आलू उत्पादक वाला राज्य है। ये कहना उचित होगा यहां कुल मिलाकर के उत्पादन 35% आलू हर फसल पर हो रहा है।

Leave a Comment