उत्तर प्रदेश सड़क हादसों की जबकि गई गणना तो लखनऊ निकला सबसे टॉप पर।

उत्तर प्रदेश सड़क हादसों की जब कि गई गणना , तो लखनऊ निकला सबसे टॉप पर।

 

 

 

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )   वैसे तो सभी क्षेत्रों में सड़क हादसे होते रहते हैं परंतु सबसे अधिक होने वाले एक्सीडेंट के क्षेत्र गड़ना करने पर कानपूर समेत राजधानी का भी नाम सामने आया है यह इस समय टॉप लेवल पर है क्षेत्र में सबसे ज्यादा तकरीबन 16 सौ पचासी हादसे सामने आए हैं।

 

जी हां, सबसे अधिक सड़क हादसों के क्षेत्रों की जब गणना की गई तो उन क्षेत्रों में कानपुर तथा लखनऊ टॉप लेवल पर निकले। लखनऊ में तकरीबन 16 सौ पचासी हादसे और कानपुर में 692 लोगों की अभी तक मौत हो चुकी है लखनऊ तथा कानपुर के अलावा 10 ऐसे और भी जिले हैं जहां पर खूब एक्सीडेंट तथा दुर्घटनाएं आए दिनों हुआ करती हैं। 2019 के वर्ष में लखनऊ में तकरीबन 1685 एक्सीडेंट हो चुके हैं। मतलब के 4% और वहीं दूसरी ओर हादसों के दौरान हुई मौतों के मामले भी कानपुर में सबसे अधिक हुए हैं, जिसमें 692 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। मतलब कि 3.1% के साथ यह टॉप पर कानपुर पहुंच चुका है।

 

लखनऊ तथा कानपुर के अलावा 10 ऐसे और भी जिले हैं जहां पर खूब एक्सीडेंट तथा दुर्घटनाएं आए दिनों हुआ करती हैं। 2019 के वर्ष में लखनऊ में तकरीबन 1685 एक्सीडेंट हो चुके हैं। 4% के साथ-साथ सबसे ऊपर यह घटना हुई है। वहीं दूसरी ओर हादसों के दौरान हुई मौतों के मामले भी कानपुर में सबसे अधिक हुए हैं, जिसमें 692 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। मतलब कि 3.1% के साथ यह टॉप पर कानपुर पहुंच गया है।

 

 

कैसे रोकी जाएगी दुर्घटनाएं

 

 

तो बता दें की प्रदेश में तकरीबन 12 ऐसे जिले हैं जिसमें सबसे अधिक एक्सीडेंट तथा मौत के मामले सामने आए हैं। लखनऊ तथा कानपुर जिस में टॉप पर दिखे हैं परिवहन आयुक्त धीरज साहू से जब बातचीत की तो उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में डिस्ट्रिक्ट में तथा ब्लैक स्पॉट चिन्हित किए गए हैं और बहुत जल्द ही इसमें कमी लाने के प्रयास हो रहे हैं। रोड अभियन्ता सड़क की बनावट में कमियों को दूर। करने का प्रयास कर रहे हैं जिससे कि यह आए दिन हो रही दुर्घटनाओं में कमी हो ।

Leave a Comment