कोरोना ने दिया दशहरे को इस बार एक नया अंदाज, लोगों ने देखा टीवी पर रावण दहन।

कोरोना ने दिया दशहरे को इस बार एक नया अंदाज,
लोगों ने देखा टीवी पर रावण दहन।

 

 

 

कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन करते हुए लोगों ने इस बार अपने अपने घर में ही बैठकर लैपटॉप टेलीविजन यूट्यूब पर रावण दहन देखा।
कोरोना संक्रमण के कारण इस साल कम संख्या में रावण दहन का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
और जहां पर रावण दहन हुआ भी , तो वहां पर सीमित संख्या में ही लोग पहुंचे। अधिक से अधिक लोगों को यूट्यूब और टेक्नोलॉजी के माध्यम से रावण दहन दिखाया गया।
इस साल दशहरे का मेला भी कम तादाद में ना के बराबर लगा। लखनऊ के ऐशबाग रामलीला मैदान पर 70 फिट ऊंचे रावण का पुतला जला इस साल रावण के पुतले की ऊंचाई भी कम थी।और रावण दहन उप मंत्री डॉ दिनेश शर्मा की उपस्थिति में किया गया।
लखनऊ रामलीला मैदान में केवल पदाधिकारी को ही जाने की इजाजत थी जिसके लिए उन्हें बाकायदा खासकर पास दिए गए थे। लोग इस आयोजन से दूर रहे ।

 

देवरिया में- बाकी वर्षों की तरह यह दशहरा तामझाम के साथ नहीं मनाया गया। गणेश उत्सव के बाद शारदीय नवरात्र पर्व को लेकर कई तरह की रोकथाम के वजह से उत्साह का उल्लास काफी फीका पड़ गया ,कोरोना का असर रावण दहन पर भी दिखा।वहीं दूसरी ओर

अयोध्या में – लक्ष्मण किला परिसर में रंगमंच तथा फिल्म टिकट और कलाकारों के द्बारा हुआ खूबसूरत रामलीला और यहां पर 40 फिट ऊंचे रावण के पुतले का दहन किया गया। ,रावण की भूमिका अभिनेता शहबाज खान और अहिरावण की भूमिका बॉलीवुड अभिनेता रजा मुराद ने निभाई

झांसी में – भी कोविड-19 का असर दिखाई दिया,और कोविड प्रोटोकॉल का पालन पूर्ण रूप से किया गया साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया ।

इटावा में – रावण दहन अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की उपस्थिति में हुआ। यह कार्यक्रम समाप्त हो जाने के बाद शिवपाल ने कहा कि 2022 के विधानसभा में चुनाव में प्रसपा की बुराई का खात्मा कर सरकार बनाई जाएगी।

कानपुर में सोसायटी के प्रधान मंत्री कमल किशोर अग्रवाल ने विधि-विधान से भगवान राम,लक्ष्मण के साथ वीर हनुमान जी की पूजा करी।

उन्नाव में – दशहरे के मौके पर रावण दहन में केवल कुछ चंद ही लोग पहुंचे थे और

फतेहपुर के बिंदकी में-रावण दहन को लेकर सुरक्षा का बहुत ही सख्ती से इंतजाम किया गया था।

चित्रकूट में – रावण दहन पुरानी बाजार रामलीला कमेटी की तरफ से किया गया और कमेटी ने रामलीला का स्टेज नहीं लगाया था।

Leave a Comment