कोरोना महामारी से लड़ने में उत्तर प्रदेश राज्य हुआ सफल बाकी राज्य के मुकाबले रहा दूसरे स्थान पर।

कोरोना महामारी से लड़ने में उत्तर प्रदेश राज्य हुआ सफल
बाकी राज्य के मुकाबले रहा दूसरे स्थान पर।

 

 

 

कोविड-19 से उत्तर प्रदेश राज्य धीरे धीरे लड़ने में सफल होते दिखा। आखिरकार राज्य सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करने का परिणाम सकारात्मक दिखने ही लगा। 27 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश राज्य कोरोना महामारी से लड़ने में अन्य राज्यों के मुकाबले दूसरे स्थान पर रहा। खुशी की बात तो यह है कि वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश में अब सबसे कम मरीजों की संख्या 1678 ही रह गई है। हालांकि बिहार राज्य सबसे प्रथम स्थान पर है  और वहां के मरीजों की संख्या 1466 है।

 

आरबीआई ने कोरोना महामारी से लड़ने की तैयारी को
9 कोसौटियों पर जाचा
और उसमें से उत्तर प्रदेश राज्य 9 में से 8 में पूर्ण रुप से खरा साबित हुआ।
उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने कोविड-19 से लड़ने के लिए भिन्न-भिन्न तरीके खोजे, तो जनता ने भी निर्देशों का पूर्ण रुप से पालन किया और कोरोना महामारी को हराने में सफल रहे।

 

अक्टूबर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की टेस्ट फाइनेंस की
जारी रिपोर्ट में पता चला की इस राज्य में कोरोना से लड़ने में अस्पताल से लेकर उपकरण तक तथा मास्क से लेकर वेंटिलेटर और प्रवासी श्रमिक के साथ साथ दिहाड़ी मजदूरों ने पूर्ण रूप से योगी सरकार के निर्देशों का पालन करा इस तरह से यूपी प्रत्येक श्रेणी में सबसे बेहतर काम करता हुआ साबित हुआ।
यूपी देश का इकलौता राज्य है जिसमें कि 9 श्रेणियों में से 8 श्रेणी में इसने अपना अलग स्थान बनाया।
हालांकि यहां पर प्रति व्यक्ति मेडिकल खर्च देखा जाए तो 1065 रुपए प्रति व्यक्ति मेडिकल खर्च है।
और दिल्ली प्रति व्यक्ति मेडिकल खर्च के मामले में 3808 रुपए के साथ सबसे आगे है।

 

जाने कुछ खास बातें- 

 

प्रदेश में लैब क्षमता कोर्स 60,000 किया गया और पीजीआई केजीएमयू तथा बीएचयू में वर्चुअल आईसीयू चलाए गए
मरीजों से जाकर अस्पतालों में बातें की गई और उनके हालचाल पूछे गए हैं कि उनके साथ किसी भी प्रकार की।
इलाज में लापरवाही तो नहीं हो रही है।
हॉस्पिटल की स्वच्छता का पूरा ध्यान रखा गया। साथ ही योगी सरकार ने आने वाले त्योहारों के लिए गाइडलाइन जारी कर त्योहारों को सादगी से मनाने का निर्देश दिया। जनता ने भी पूर्ण रूप से उनके निर्देशों का पालन किया।
इस तरह से सीएम योगी ने महामारी से लड़ने में सफलता पाई।

जाने सबसे अधिक तथा कम मरीजों वाले प्रदेश।

दिल्ली              14949
आंध्र प्रदेश       12865
महाराष्ट्र            12242
कर्नाटक          8907
तमिलनाडु        7677

 

कम मरीजों वाले प्रदेश।

 

बिहार                     1466
उत्तर प्रदेश             1678
मध्य प्रदेश              1500
राजस्थान               1670
हिमाचल प्रदेश       2010

Leave a Comment