चोरी की बिजली का कीया सरकार ने मूल्य निर्धारण।

चोरी की बिजली का कीया सरकार ने मूल्य निर्धारण।

 

Lucknow ( कुलसूम फात्मा ) वो उपभोक्ता जो बरसों से बिजली चोरी कर रहे हैं, अभियंताओं के द्वारा पकड़े गए तो उन पर मूल्य निर्धारण लगा दिया गया अब राजस्व विभाग समय-समय पर ब्याज लगाकर के आंकड़ा बढ़ा रहा है। बिजली चोरी के मामले चाहे कुर्सी रोड पर स्थित निजी टाउनशिप का हो या ठाकुरगंज के फ्लैटों में पकड़ी गई बिजली से सम्ब्न्धित प्रभावशील टीम विवेचना के अलावा कुछ नहीं कर पा रही है।

 

लेसा ने अपने खंडों में खूब अभियान चलाकर के लाइन लॉस रोकने का प्रयत्न किया। जिसमें हजारों बिजली के चोरों को पकड़ा गया और यह मूल्य निर्धारण का पैसा जमा करने वालों का ग्राफ आठ से 10% है।

जाने कहां पकड़ा गया बिजली चोर।

मोहम्मद आजम खान स्थित कुर्सी रोड पर विजिलेंस ने बिजली की चोरी को पकड़ा। यह 39 किलोवाट की बिजली चोरी कर रहा था और अरविंद कुमार तथा एसडीओ शैलेंद्र घुसिया को सस्पेंड भी कर दिया गया। 2 दिन पश्चात शक्ति भवन की टीम ने यहां पर पुनः चोरी को पकड़ा और कई घरों में सीधे कटिया डालकर के बिजली को चोरी करते हुए देखा।

अजीत के यहां इस बिजली की चोरी को पकड़ा  और उससे लगभग ढाई लाख रुपए तक के जुर्माना वसूल लिया गया।
अधिशासी इंजीनियर बीकेटी एच पी मिश्रा से वार्तालाप करने के पश्चात पता चला कि 22 लाख से ज्यादा का यह मूल्य निर्धारण बना था, परंतु जमा नहीं हुआ। वहीं दूसरी ओर इंजीनियर जो इस बिजली चोरी में लिप्त नहीं थे, उन्हें भी बहाल नहीं किया गया है। अब तक खास बात यह है कि बिजली चोरी करने वाले ने रो हाउस बनवा रखे हैं। इनकी बिजली वर्तमान आज के समय में कैसे चल रही है। इसको लेकर के चेकिंग की बहुत ज्यादा आवश्यकता है क्योंकि बिजली विभाग यहां नंगे तारों को हटवा करके सीधे एबीसी लगवा दी थी जिसके के उपभोक्ता बिजली ना चोरी कर सके। वहीं दूसरी तरफ एलडीए में इन मकानों का नक्शा भी नहीं मौजूद है

Leave a Comment