जल्दी करें –  आइटीआर फाइल करने के लिए बचे हैं चंद दिन ,जाने किस तरीके से होगा ऑनलाइन ?

जल्दी करें –  आइटीआर फाइल करने के लिए बचे हैं चंद दिन ,जाने किस तरीके से होगा ऑनलाइन ?

 

 

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )  बड़ी सूचना –     यदि आपको आइटीआर फाइल करना है तो जल्दी करें क्योंकि इसको फाइल करने का समय चंद ही दिन बचा है। समय के अंतर्गत फाइल करने से जुर्माना नहीं पड़ेगा।  Assessment years 2020 and 21 का इनकम टैक्स रिटर्न यदि आप भरना चाहते हैं तो जल्दी करें क्योंकि इसके लिए साथ ही दिन बचे हैं।

 

 

 

आखिरी समय अवधि में आइटीआर फाइल जल्द कर दे नहीं तो जुर्माना पड़ सकता है। आप आइटीआर पहले फाइल कर दे क्योंकि इसकी अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2020 है और रिटर्न फाइल करने पर कोई जुर्माना भी नहीं पड़ेगा। लेकिन यदि समय के बीच जाने पर फाइल किया तो जुर्माना भरना पड़ेगा।  वैसे तो लास्ट डेट 31 जुलाई होती थी परंतु इस बार कोरोना महामारी के वजह से समय बदल दिया गया है और बदलकर 31 दिसंबर डेट को बढ़ा दिया गया है।

 

 

 

चलिए जानते हैं कैसे किया जाएगा आईटीआर फाइल  ?

 

 

आपको आइटीआर फाइल करने से पूर्व यह पता होना चाहिए की आपको कौन सा फॉर्म भरना है। इसके साथ ही e-filing वेबसाइट पर साइन आपको तथा अकाउंट होना चाहिए नहीं है तो  अकाउंट  बनाना होगा।   आइए जानते हैं कैसे ऑनलाइन आइटीआर फाइल किया जा सकता है। बता दें की यह केवल आइटीआर 1 तथा आइटीआर 4 के लिए तरीका है।

 

सर्वप्रथम आपको इनकम टैक्स e-filing पोर्टल पर जाना होगा और यूजर आईडी पैन कार्ड पासवर्ड तथा कैप्चा कोड के साथ लॉगिन करना होगा।

उसके पश्चात ही फाइल मैन्यू पर क्लिक करना होगा। उसके पश्चात इनकम टैक्स रिटर्न के लिंक पर क्लिक करना पड़ेगा।

फिर इनकम टैक्स रिटर्न पेज पर पैन स्वयं भरा हुआ दिखेगा।

 

अब एसेसमेंट ईयर आइटीआर फॉर्म नंबर फाइलिंग टाइप में ओरिजिनल रिवाइज्ड रिटर्न चुनना पड़ेगा।

 

इसके पश्चात सब मिशन मोड में प्रीमियर एंड सबमिट ऑनलाइन पर क्लिक करना होगा।

 

इसके पश्चात कंटिन्यू पर क्लिक कर कर अब आप दिशानिर्देशों को सावधानी से पढ़ेंगे और फॉर्म को पूरी तरीके से सावधानी से भरना प्रारंभ करेंगे।

 

फॉर्म भरने के पश्चात टैक्स पैड तथा वेरिफिकेशन ऑप्शन को चुनना पड़ेगा।

 

इसके पश्चात प्रीव्यू एंड सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।

 

अगर आपने वेरिफिकेशन का ऑप्शन चुना है तो आपको ईवीसी तथा ओटीपी में से किसी एक के द्वारा ही वेरिफिकेशन पूर्ण कर सकते हैं। एक बार यह वेरिफिकेशन का प्रोसेस पूरा होने के पश्चात आप आइटीआर सबमिट करने का प्रोसेस कर सकेंगे इनकम टैक्स विभाग की फाइलिंग वेबसाइट के अनुसार आयकर रिटर्न करने के पश्चात तकरीबन 120 दिनों के अंतर्गत ही वेरिफिकेशन अनिवार्य होगा।

Leave a Comment