ठंड आते ही अब छएगी कोहरे की चादर कैसे बचाएगी ट्रैफिक पुलिस एक्सीडेंट का होना।

ठंड आते ही अब छएगी कोहरे की चादर कैसे बचाएगी ट्रैफिक पुलिस एक्सीडेंट का होना।

 

Lucknow,( कुलसूम फात्मा )  सभी प्रदेशों के साथ-साथ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी बारिश दो-तीन दिन लगातार हुई जिससे कि अब धीरे-धीरे कोहरा गिरता हुआ नजर आ रहा है। और जैसे-जैसे ठंड बढ़ेगी एक्सीडेंट का होना भी लगातार बढ़ता जाएगा। हर साल कोहरा ज्यादा पड़ने के कारण लोग रोड देख नहीं पाते हैं। रोड पर जिससे कि जाकर के गाड़ियां दूसरी गाड़ियों से टकरा जाती है और एक्सीडेंट हो जाते हैं। इस बात को लेकर के ट्रैफिक पुलिस ने गंभीरता से सोचा और निर्णय लिया ।

 

लखनऊ शहर में ट्रैफिक पुलिस ने गंभीरता से निर्णय लिया की वह इस बार कोहरे के कारण एक्सीडेंट की समस्या को दूर करेगी और योजना भी बनाई। यदि हिसाब लगाया जाए तो पूरे साल में तकरीबन 500 से 550 लोगों की सड़क के हादसो में जान चली जाती है और जब ठंडक आती है तो यह 31 जनवरी तथा 10 फरवरी तक के कोहरे के दौरान होने वाले सड़क हादसों में 25% लोगों की जान चली जाती है।

ठंड के कारण इन हादसों की समस्या को दूर करने के लिए योजना बनाई और , डीसीपी ट्रैफिक ख्यात गर्ग ने बताया की इससे कोहरे में होने वाले सड़क हादसों में कमी होगी और उन्होंने बताया कि रेट्रो रिफ्लेक्टिव टेप भी यहां पर लगाए जा रहे हैं जिससे थोड़ी सी भी लाइट पड़ने पर वाहन चालकों को मार्ग का अंदाजा हो जाएगा और हाईवे तथा शहर के अंदर चलने वाले वाहनों में पीछे तथा आगे की ओर रेट्रो रिफ्लेक्टिव टेप लगवाने के लिए गाइडलाइन भी सभी वाहन चालकों के लिए जारी कर दी गई है

क्योंकि कोहरे के दौरान धुंधलापन छा जाता है और उस धुंधलेपन को दूर करने के लिए इस योजना का बनाना बहुत ही जरूरी है उन्होंने बताया कि यह भी व्यवस्था की जा रही है की वह सिग्नल जिनके ऊपर पेड़ों की टहनियां लटकती हैं, उन्हें भी कटवाया जा रहा है

और साथ ही नगर निगम पीडब्ल्यूडी के साथ बैठक की गई है। जो भी हादसों के प्रमुख स्पॉट हैं, वहां का अधिक ध्यान दिया जा रहा है और पिछले वर्ष में कोहरे के दौरान जहां जहां हादसे हुए हैं, उनकी चेकिंग करके व्यवस्थित किया जा रहा है।

साथ ही पॉइंट पर विशेष सावधानी बरतने के लिए निर्देश भी दिए गए हैं और इंजीनियरों से बातचीत करने के पश्चात सुरक्षा के लिए निर्णय लिए जा रहें हैं

 

जाने कोहरे में दुर्घटना होने का कारण –

1 – कोहरे में गाड़ी चलाने और लाइट्स ना होने से दुर्घटना घटित होती है।
2- अधिक गति से वाहन चलाने पर भी
3- और अनावश्यक गाड़ी को सड़क पर रोकने से भी
4- सड़क पर रोड मार्किंग ना होने से
5- थकान तथा नींद में गाड़ी चलाने से
6- बार-बार ओवरटेक करने की कोशिश से भी दुर्घटनाएं घटित हो जाती हैं।
7- साथ ही गाड़ी की बत्तियों के ना ठीक होने के कराड़ ये दुर्घटनाएँ होती हैं।

Leave a Comment