नौकरी देने के नाम पर घर बुलाकर किया दुष्कर्म, महीनों तक इंसाफ के लिए भटकती रही पीड़िता

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश में तमाम कोशिशों के बाद भी महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों की घटनाओं के दर घटने का नाम ही नहीं ले रहे। हाल ही में प्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक और ऐसी घटना सामने आई है। जानकारी के अनुसार गुंडबा क्षेत्र की रहने वाली 11वीं की छात्रा ने यह आरोप लगाया है कि आरोपित विपिन ने उसे अपने घर नौकरी देने के नाम पर बुलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

आपको बता दें यह घटना 23 अगस्त की है। पीड़िता के बयान के मुताबिक उस रोज जब आरोपित विपिन ने उसे अपने घर बुलाया तो पीड़िता अपने सभी शैक्षिक प्रमाण पत्र लेकर उसके घर पहुंची थी। जब वहां पहुंची तो उसने देखा कि वहां पहले से ही तीन-चार अन्य युवक भी मौजूद थे जिनमें से एक का नाम शकील था।

युवती के वहां पहुंचने के बाद आरोपितों ने उससे किसी सादे कागज पर उसके हस्ताक्षर लिए और फिर एक कमरे में उसे बंद कर दिया जहां बारी-बारी से उन्होंने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

करीब 1 हफ्ते के बाद जब सभी आरोपी पीड़िता को वहां छोड़कर भाग निकले उसके बाद पीड़िता अपने परिवार वालों सहित बीते 3 सितंबर को गुंडबा थाने में शिकायत करने पहुंची थी। हालांकि पीड़िता का आरोप है कि उस वक्त पुलिस चौकी के थानेदारों ने एफ आई आर दर्ज करने में आनाकानी दिखाई थी। इस दौरान आरोपित विपिन पीड़िता के घर जाकर उसकी बहनों के साथ भी छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया था। इस विषय में पीड़िता व उसके परिजनों ने डीसीपी उत्तरी, एडीसीपी और एसीपी गाजीपुर समेत महिला आयोग व अन्य अधिकारियों से भी इस घटना की शिकायत करने की कोशिश की मगर 1 महीने तक इस विषय में उनकी ओर से कोई संज्ञान नहीं लिया गया।

 

गौरतलब है कि जब हाथरस की घटना को लेकर प्रशासन सख्त हुई उसके बाद यहां के अफसरों ने बीते गुरुवार पीड़िता के शिकायत के मद्देनजर विपिन व शकील सहित अन्य आरोपियों पर  एफ आई आर दर्ज कर दो को गिरफ्तार किया।

Leave a Comment