पहली बार दिखा लखनऊ विश्वविद्यालय अद्भुत रूप में –

पहली बार दिखा लखनऊ विश्वविद्यालय अद्भुत रूप में । 

 

Lucknow,( कुलसूम फात्मा ) 100 साल पुराना विश्वविद्यालय अद्भुत रूप में दिखा
कि लोग निहारते ही रह गए। लखनऊ। विश्वविद्यालय का सौंदर्य पहली बार इतना ज्यादा निखर के सामने आया था
कि जैसे लग रहा था की इमारतें ईट कि नहीं सीटों की हो गई हैं। लखनऊ विश्वविद्यालय के एमबीए विभाग तक की सजावट को किया गया जोकि अद्भुत रूप में दिखी
इस सजावट को 19 नवंबर से 25 नवंबर तक के रखा
लखनऊ विश्वविद्यालय 100 वर्ष का हो गया है। इस बात का जश्न मनाया जा रहा है जो कि 19 नवंबर से 25 नवंबर तक के मनाया जाएगा। इस जश्न को मनाने के लिए वर्तमान समय में सारी तैयारियां पूर्ण हो चुकी है।

 

जाने विश्वविद्यालय के बारे में।

नवाबों के समय में नवाबों ने विश्वविद्यालय के अंदर लाल बरादरी की इमारत क निर्माण कराया था जो कि वर्तमान समय में भी स्थित है। इस लाल बरादरी को 18वीं शताब्दी में नवाबों ने बनवाया था और इसमें मस्जिद भी है। उसे लोटस हॉल के नाम से सभी लोग जानते हैं। और ऐसे कई हाल और वहां पर स्थित है। और साथ ही इसमें तहखाना और सुनेंगे भी हैं। यहाँ स्थिति फाउंटेन का सीधा जुड़ाव गोमती नदी से था, क्योंकि यह लाल रंग में थी। इसे बाद में लाल बरादरी कहा जाने लगा क्योंकि यह लाल रंग में थी, इसलिए इसको लाल बरादरी के नाम से जाना जाने लगा।

और राजा महमूदाबाद ने जब एल.यू के आसपास की जमीनें दी। तो वो L.U के ही हिस्से में शामिल हो गई। लाल बिरादरी के मुख्य हिस्से में पहले यूको बैंक चलाया जाता था। जबकि दूसरे हिस्से में कैंटीन स्टाफ क्लब और मस्जिद तथा को ऑपरेटिव सोसाइटी का कार्यालय था। बिल्डिंग खराब होती गई तो विश्वविद्यालय ने इसकी मरम्मत कराने की जगह इसके कार्यालय दूसरे विभागों में शिफ्ट करना प्रारंभ कर दिया। और एएसआई के हवाले कर दिया

Leave a Comment