पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के कारण गुरुवार को ही नहीं शुक्रवार को भी बढ़ी ठंड नैनीताल जैसा रहा माहौल।

पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के कारण गुरुवार को ही नहीं शुक्रवार को भी बढ़ी ठंड नैनीताल जैसा रहा माहौल।

 

 

 

 

लखनऊ, ( कुलसूम फात्मा )  बुधवार के दिन उत्तर प्रदेश में ज्यादा कोहरा देखने को मिला और बर्फीली हवाओं के साथ साथ धूप भी निकली रही। यह हवा गलन महसूस करा रही थी।  ठंड बढ़ने का कारण यह यह है की पहाड़ों पर बर्फबारी हुई और मैदानी इलाके में काफी ठंडा मौसम हो गया। इसीलिए धीरे-धीरे नहीं। एकदम से यह ठंड बढ़ गई। गुरुवार को आईएमडी की वेबसाइट पर जब चेक किया गया तो डिस्ट्रिक्ट का यह कम से कम टेंपरेचर 3.3 डिग्री तक मिला। इतना टेंपरेचर पूरे प्रदेश में किसी भी शहर का इतना नहीं मिला। वहीं दूसरी ओर शुक्रवार के दिन यानी आज के दिन भी काफी ठंड है।

 

 

हिल स्टेशन नैनीताल का गुरुवार के दिन टेंपरेचर बरेली से ज्यादा था यह तकरीबन 4 डिग्री नोट किया गया है।
बताया जा रहा है की यह पिछले 11 वर्षों में पहली बार हुआ है की इतना टेंपरेचर ज्यादा हुआ हो, नहीं तो पिछले वर्ष टेंपरेचर यह अधिक हुआ था नहीं तो इस वर्ष , माना जा रहा है की इस वर्ष ठंड पिछले वर्ष का भी रिकॉर्ड तोडे़गी ।

 

हालांकि कोहरा जब पड़ता है तो ठंड कम लगती है परंतु दुर्घटनाएं भी अधिक होती हैं। लेकिन इस बार कोहरे के साथ-साथ जलन वाली हवा और हाथ पैर काटे दे रही है। लोगों का गलन का सामना नहीं हो पा रहा है। लोग इस गलन जैसी हवा का सामना नहीं कर पा रहे हैं। पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के कारण मौसम पूरी तरीके से बदल गया है।

 

गुरुवार को तो बहुत तेजी के साथ धूप निकली। साथ में हवा ने भी अपना सिलसिला चालू रखा है। इसके साथ ही शुक्रवार मतलब के आज के दिन भी गुरुवार जैसी स्थिति बनी रही। तेज धूप के साथ-साथ हवा चलती रही और शुक्रवार की शाम तो गुरुवार की शाम से भी ज्यादा ठंडी है।

 

पूरे उत्तर प्रदेश में लखनऊ में ठंड की स्थिति बनी रही। इसके साथ ही अमेठी के जगदीशपुर क्षेत्र में अधिक ठंड रही। सुबह के 10:00 बजे धूप निकल आई। परंतु तेजी के साथ हवा ने लोगों के हाथ-पैर काट दिए। ठंड का यह आलम है की हाथ पैर चलने का नाम नहीं ले रहे हैं। लोग जगह-जगह पर अलाव जला कर के बैठे हैं।

Leave a Comment