पुनः लॉकडाउन ना हो इसलिए व्यवस्था बनाने में लगा है प्रशासन ,लॉकडाउन से बचने के लिए दिए आदेश।

पुनः लॉकडाउन ना हो इसलिए व्यवस्था बनाने में लगा है प्रशासन ,लॉकडाउन से बचने के लिए दिए आदेश।

 

उत्तर प्रदेश, ( कुलसूम फात्मा )   उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या को देखने के पश्चात उत्तर प्रदेश सरकार ने गाइडलाइंस जारी कर दी है। प्रशासन बहुत ही सख़्ती से लॉकडाउन ना हो इसलिए व्यवस्था और एहतियात करने की व्यवस्था बनाने में लगा हुआ है।

यूपी में कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने के लिए उत्तर प्रदेश की सरकार ने गाइडलाइंस को जारी कर दिया है।
इतना ही नहीं ज्यादा करो ना केस वाले क्षेत्रों को दोबारा कंटेंटमेंट क्षेत्र में बदला भी जा रहा है। साथ ही साथ अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों में मजिस्ट्रेट की बहाली भी प्रारंभ कर दी गई है। जहां पर भीड़भाड़ ज्यादा है। उन क्षेत्रों में नजर रखी जा रही है। चार अलग-अलग इसके लिए टीमें बना दी गई हैं और यह टीमें जिस क्षेत्र में ज्यादा भीड़ भाड़ इकट्ठा होती है, उन क्षेत्रों की मॉनिटरिंग करके उस पर रोकथाम लगाया जाएगा।

वहीं दूसरी और गोरखपुर के कमिश्नर जयंत नार्लीकर ने कोरोना के टेस्ट को बढ़ाने के लिए निर्देश भी दिए हैं। इसके साथ ही सभी भीड़ वाले हॉस्पिटल को पहले ही सचेत कर दिया गया है और कहा है की

पहले की तरह दोबारा वह पुरानी स्थित हम नहीं आने देंगे और वह स्थित दोबारा ना आए। इसलिए अभी स हम सभी को सचेत कर रहे हैं। जाच की संख्या बढ़ाने के साथ ही इस भीड़ वाले क्षेत्रों पर रोकथाम की जाएगी और कहा के त्यौहार तो सारे बीत ही चुके हैं।

साथ ही दूसरी तरफ उन्होंने कहा की अब शादियों का भी समय प्रारंभ हो गया है। ऐसे में सचेत रहना बहुत आवश्यक है और समारोह में बहुत एहतियात बरती जाए। ये आवश्यक है कहा के लोगों से अपील है की शादियों में कम से कम लोग सम्मिलित हो
कोरोना पर नियंत्रण लाने के लिए हम सब मिलकर के कोशिश करें, तो नियंत्रण हो पाएगा। अन्यथा दोबारा लॉक डाउन होने की संभावना पूर्ण रूप से बन चुकी है।

लगाएगा प्रशासन सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक।

जिला प्रशासन अब हो सकता है कि सार्वजनिक कार्यक्रमों पर भी रोक लगा दे और केवल जरूरी आयोजनों को ही परमिशन दें। इसकी तैयारी चल रही है। इसके साथ ही गैर आवश्यक लगने वाले कार्यक्रमों को परमिशन बिल्कुल भी नहीं दी जाएगी।

 

क्षेत्रों में लगी भीड़ तो होगी सख्त कार्रवाई।

जिलाधिकारी के• विजयेंद्र पांडियन से वार्तालाप करने के पश्चात पता चला की किसी भी ऐसे क्षेत्र में जहां पर भीड़ लगी हो और वह सार्वजनिक क्षेत्र है तो ऐसे क्षेत्रों के खिलाफ तथा सम्मिलित हुए लोगों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ ना लगाएं। अनुरोध किया है इसके लिए मोबाइल मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की जा रही है।

Leave a Comment