पुलिस की लापरवाही के कारण दो पक्षों के बीच हुई जमकर लड़ाई , फायरिंग भी हुई जाने विस्तार से क्या था मामला ?

पुलिस की लापरवाही के कारण दो पक्षों के बीच हुई जमकर लड़ाई  ।

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )  पारा के थाना क्षेत्र में आने वाले रामपुर इलाके में स्थित दो लोग के बीच लड़ाई हो गई यह लड़ाई इतनी बढ़ी के दोनों  के बीच खून खराबा होने की नौबत आ गई।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पारा  क्षेत्र के रामपुर इलाके में जमीनी विवाद के संबंध में किसान और प्रॉपर्टी डीलर के मध्य विवाद उत्पन्न हो गया और दोनों के बीच इतनी लड़ाई हुई के खून खराबा की नौबत आ गई। दोनों पार्टियों के बीच फायरिंग हुई और फायरिंग के दौरान प्रॉपर्टी डीलर तथा किसान दोनों को ही गोली लग गई। दोनों की गंभीर हालत है और ट्रामा सेंटर में दोनों एडमिट कराए गए हैं। इस दौरान कई और लोग भी मारपीट में जख्मी हो गए क्षेत्र में काफी तनाव फैल चुका है। और पुलिस वर्तमान समय में वहाँ पर तैनात की जा चुकी है।

 

विस्तार से जानें आखिर क्या था मामला ?

 

असल में यह मामला पारा थाना क्षेत्र के रामपुर इलाके का है और यहां के निवासी किसान उमेश रावत की गांव में ही जमीन है। इंस्पेक्टर पारा त्रिलोकी सिंह से जब वार्तालाप हुई तो पता चला की पिछले साल उमेश की एक जमीन का प्रॉपर्टी डीलर सुनील ने एग्रीमेंट कराया था और सुनील से उसे आधे रुपए ही मिले थे। वही उमेश रुपयों की मांग कर रहा था। और उमेश के रुपयों की मांग पर सुनील न पैसे दे रहा था न जमीन वापस दे रहा था। वह जमीन पर कब्जा जमाए हुए था।

शुक्रवार के दिन सुनील जमीन पर बनी नाली बना रहा था और रास्ते पर खुदाई भी कर रहा था इस बात की सूचना जब उमेश को मिली तो उसने विरोध किया। विरोध के दौरान दोनों पक्षों में गाली गलौज हुई और लड़ाई प्रारंभ हो गई। देखते ही देखते दोनों पार्टियों में मारपीट के बीच फायरिंग की नौबत आ गई।

और उमेश के पेट में गोली लगी और सुशील के पैर में । दोनों की गंभीर हालत है । और वर्तमान समय में अभी दोनों ही लोग ट्रामा सेंटर में एडमिट कराए गए हैं। यदि वहीं क्षेत्र में तनाव की बात की जाए तो काफी खौफ लोगो पर तारी है इसके साथ ही वहां पर पुलिस को भी तैनात कर दिया गया है।

इंस्पेक्टर त्रिलोकी सिंह से पता चला की दोनों पक्षों में जमीनी विवाद को लेकर के यह मारपीट हुई और फायरिंग की नौबत आ गई। घायलों को ट्रामा सेंटर में एडमिट करा दिया गया है। मामले की जांच अभी हो रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके द्वारा ही कार्यवाही की जाएगी।

पुलिस पर आरोप –

पुलिस पर भी इस दौरान आरोप लगाया गया है की पुलिस ने लापरवाही की है क्योंकि पहले से ही विवाद चल रहा था। लोगों का कहना है की अगर पुलिस पहले से ही इस मामले पर ध्यान दे देती तो यह नौबत ना आती है क्योंकि पुलिस के पास यह सूचना पहले ही दी जा चुकी थी। क्योंकि इससे पहले भी विवाद दोनों के बीच हुआ था और पुलिस ने कोई भी कार्यवाही न की और लापरवाही बरती ।

Leave a Comment