पॉलिटेक्निक प्रवेश प्रक्रिया में तकनीकी शिक्षा विभाग ने लिया निर्णय, आरक्षित सीटें हैं खाली।

पॉलिटेक्निक प्रवेश प्रक्रिया में तकनीकी शिक्षा विभाग ने लिया निर्णय, आरक्षित सीटें हैं खाली।

 

उत्तर प्रदेश, ( कुलसूम फात्मा )   तकनीकी शिक्षा विभाग ने पॉलिटेक्निक प्रवेश प्रक्रिया में  एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। इस बार गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण दिया जा रहा है। इसलिए इंस्टिट्यूशन 10% सीटों को बढ़ा दिया गया है सरकारी सहायता से प्राप्त और प्राइवेट रिजर्वेशन देने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन ने सीटे बढ़ाने का निर्देश दे दिया है।

 

क्योंकि इसे नहीं पता था की पूर्व से उपलब्ध सीटों को भरने की चुनौतियां भी देनी पड़ेगी क्योंकि 9 आरक्षण पूर्ण होने के बावजूद भी आरक्षण की सीटें आज भी खाली हैं। कोरोना महामारी का आर्थिक व्यवस्था पर ही असर नहीं पड़ा बल्कि निजी संस्थानों पर भी इसका असर पड़ा।

 

और निजी संस्थानों पर इसका प्रभाव यह रहा के अंतिम चरण तक के आज भी एक लाख से ज्यादा सीटों पर प्रवेश का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि सरकारी संस्थानों में भी दो हजार से ज्यादा सीटों पर अभी एडमिशन होने बाकी हैं और दिसंबर की 5 तारीख से यह प्रक्रिया समाप्त भी हो गई है। इस स्थिति में सीटों का भर पाना मुमकिन नहीं दिख रहा है।

2020 में बिना परीक्षा के दिया गया मौका।

कोरोना संक्रमण के कारण इस बार संयुक्त प्रवेश परीक्षा को मेरिट के जरिए ही डेढ़ लाख आवेदकों को एडमिशन कराने का मौका दिया गया। क्योंकि काउंसलिंग के लिए तीन अतिरिक्त फेज़ हुए उसमें सीटें नहीं भर सकीे इस सिलसिले को देखकर परिषद ही नहीं संस्थानों के प्रधानाचार्य भी हैरत ज़दा है।

Leave a Comment