फ्लैट खरीदारों के लिए खुशखबरी कोविड-19 के कारण फ्लैट तथा मकानों की कीमत में आई लाखों की गिरावट

फ्लैट खरीदारों के लिए खुशखबरी – कोविड-19 के कारण फ्लैट तथा मकानों की कीमत में आई लाखों की गिरावट ।

 

यूपी की राजधानी लखनऊ में 5 से 15 लाख तक की कीमत में आई गिरावट यह उन लोगों के लिए खुशखबरी है जो लोग मकान तथा फ्लैट खरीदना चाहते हैं
बताया जा रहा है 2020 में बने फ्लैट,मकान 2017 के रेट पर बिक रहे हैं। कोविड-19 इस साल मकान तथा फ्लैट खरीदारों की खुशी का वजह बना है।

रियल एस्टेट में हुइ मंदी के कारण ने फ्लैट मकानों के दामों को 3 साल पीछे जाकर ढकेल दिया है। 2020 में बने हुए फ्लैट तथा मकान 2017 के रेट पर मिल रहे हैं।
फैजाबाद रोड तथा सुल्तानपुर रोड सुशांत गोल्फ सिटी कुर्सी रोड पर बिल्डर्स ने 5 से लेकर 15 लाख तक की कीमत कम कर दी हैं। बिल्डर्स का कहना है कि हमें 5 से 15 लाख का नुकसान हो रहा है।

नरेंद्र कुमार मौर्य ने कहा कि रेडी टू मूव संपत्तियों की कीमतों में भी काफी भारी कमी आई है।
उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के पूर्व
कुर्सी रोड पर 45 से 50 लाख तक के फ्लैट मिल रहे थे जिनमें 3 बैडरूम, किचन, लैट्रिन तथा बाथरूम रहता था। परंतु वर्तमान समय में इनकी कीमत गिरकर 40 लाख से भी कम हो गई है।
और सीजी सिटी में जो फ्लैट 70 लाख में मिल रहे थे
अब 65 तक के इनकी कीमत गिर गई है
सुशांत गोल्फ सिटी में 80 लाख रुपए से 85 लाख के मिलने वाल फ्लैट अब 68 या 70 लाख में गिरकर बिक रहे हैं। उपर्युक्त मंदी का कारण कोविड-19 इस बार बना है।

 

मंदी के कारण ग्राहक मिलना हो गए हैं बंद।

 

फ्लैट के कारोबार करने वाले अशोक सिंह का कहना है कि रीसेल के फ्लैटों तथा मकानों की कीमतों में भी कमी आई।
है। वह फ्लैट जिनमें चार बैडरूम होते हैं, उनकी कीमत पहले 80 से 85 लाख होती थी परंतु अब 68 से 70 लाख रुपए कम हो गई है।
और राजधानी में करीब 15000 फ्लैट तैयार है, परंतु यहां की स्थिति इतनी बुरी हो गई है  की यहां पर ग्राहक ही नहीं
मिल रहें हैं।

Leave a Comment