भरे जाएंगे शिक्षामित्रों के खाली पद जाने भर्तियों के संबंध में।

भरे जाएंगे शिक्षामित्रों के खाली पद जाने भर्तियों के संबंध में।

 

एक बार फिर राज्य सरकार लंबे समय के बाद शिक्षा मित्रों को भर्तियों का मौका दे रही है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने 2017 में शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द करते हुए कहा था कि 2 भारतीयों में आगे मौका दिया जाएगा, परंतु इसके बाद सरकार 68500 तथा 69000 शिक्षक भर्ती में शिक्षामित्रों को मौका दे चुकी है। लेकिन अब सरकार एक और भर्ती का मौका दे रही है। प्रदेश में लगभग ये भर्तियां 1.7 लाख करी जाएगी।

जब हाई कोर्ट ने 2017 में शिक्षामित्रों का सहायक अध्यापकों के पद पर समायोजन रद्द कर दिया था तो सरकार ने शिक्षामित्रों को कुछ छूट देने के लिए कहा था और कहा था कि अगली दो भर्तियों में उनको मौका दिया जाएगा। सरकार ने शिक्षामित्रों की इन रिक्त भर्तियों को कुछ छूट देने का फैसला उस समय किया था।

सरकार ने आयु सीमा में छूट देते हुए सेवानिवृत्ति की आयु नियुक्त का प्रावधान बनाया। और साथ ही हर साल की सेवा का ढाई अंक अधिक से अधिक 25 अंक का भार तय किया था। हालांकि मेरिट में ज्यादा से ज्यादा 25 अंक भारांक के रूप में जोड़े जा सकते हैं। ऐसा निर्देश दिया था 68500 शिक्षक भर्ती में 7224 तथा 69000 शिक्षक भर्ती में और 8018 शिक्षामित्र लिखित परीक्षा में पास हुए थे। इसके पश्चात मेरिट में इनके शैक्षिक गुणांक में भारांक को जोड़कर चयन लिस्ट में सम्मिलित किया गया।

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी से बातचीत करने के पश्चात पता चला कि वह हाईकोर्ट सर्वोच्च न्यायालय के इस निर्णय को मंजूर करते हैं और शिक्षामित्र निराश ना हों। उन्होंने कहा, अगली जो भी शिक्षक भर्ती होगी उसमें हम उन्हें एक मौका देंगे।

Leave a Comment