भ्रष्ट पुलिसवालों की अब खैर नहीं, हर वक्त रहेंगे निगरानी पर

लखनऊ:  आए दिन पुलिस वालों द्वारा किसी ना किसी व्यक्ति से घूस लेने जैसे अन्य कई अपराधिक गतिविधियों में सम्मिलित होने की घटना सामने आती रहती हैं। इसी संदर्भ में लखनऊ में ऐसे भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर शिकंजा कसने के मकसद से नई पहल शुरू की गई है।

मिली जानकारी के अनुसार  इस पुलिस कमिश्नरी सिस्टम के तहत एक कंट्रोल रूम बनाया गया है जहाँ से भ्रष्ट पुलिस कर्मियों के ऊपर नजर रखी जाएगी। इस कंट्रोल रूम में कुल 12 इमानदार पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे जो 24 घंटे भ्रष्ट अफसरों पर नजर बनाए रखेंगे।  ये सभी 12  पुलिसकर्मी सेल के नोडल अफसर जोकि डीसीपी रैंक के अधिकारी है जिनका नाम पीके तिवारी है के अंदर इस पहल को अंजाम देंगे।

इस पहल के तहत अब भ्रष्टाचारियों की लिस्ट भी तैयार की जा रही है।  इस विषय में जब लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे से पूछा गया तो उन्होंने कहा की इस पहल के तहत वैसे पुलिसकर्मी जो भ्रष्टाचार जैसे गतिविधियों को बढ़ावा देते हैं उन्हें ना केवल कंट्रोल रूम में बैठे पुलिसकर्मियों द्वारा पकड़ा जाएगा बल्कि पुख्ता सबूत मिलने पर उन्हें जेल भी भेजा जाएगा। साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे पुलिसकर्मियों को निलंबन से लेकर उन्हें उनके पद से बर्खास्त कर विभाग से बाहर की ओर का मार्ग दिखाया जाएगा।

इस पहल के तहत जो सबसे रोचक बात सामने आई है वह यह की इसके लागू होने के बाद आम नागरिक भी  किसी भी पुलिसकर्मी की दिए गए सीयूजी नंबर 9454400290 पर शिकायत दर्ज करा सकेंगे। इस कंट्रोल रूम के पुलिसकर्मियों को शिकायतकर्ता के काॅल को रिकॉर्ड करने की अनुमति नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए इस सेल में वैसे उपकरण ही दिए गए हैं जिससे जानकारी देने वालों की कॉल रिकॉर्ड ना हो सके।

हालांकि, जो भी वैसे भ्रष्ट पुलिस कर्मियों के विषय में जानकारी प्रमाण के साथ देगा उन व्यक्तियों का नाम गोपनीय रखा जाएगा।  यहां पर उन व्यक्तियों को एक और सुविधा यह दी गई है कि अगर किसी जानकारी के विषय में उनके पास जरूरत अनुसार प्रमाण मौजूद हैं परंतु वह सेल को ना बताकर पुलिस कमिश्नर से साझा करना चाहते हैं वैसे परिस्थिति में कमिश्नर से व्यक्तिगत रूप से मिलने के भी प्रावधान मौजूद हैं।

आपको बता दें कि इस पहल के तहत बने इस कंट्रोल रूम का संचालन एक अक्टूबर से शुरू हो जाएगा जिसका उद्घाटन पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय द्वारा किया जाएगा। 

गत 8 महीने में हो चुका हैं 21 अधिकारीयों का निलंबन

मिली जानकारी के अनुसार कमिश्नरी सिस्टम के लागू होने के गत आठ महीने में पुलिस कमिश्नर द्वारा अबतक 4 एसआई सहित 17 सिपाहियों को भ्रष्टाचार के आरोप में बर्खास्त किया गया है। 

 

Leave a Comment