मंडी व्यापारियों के लिए खुशखबरी – अब देना होगा 2 प्रतिशत से 1% मंडी शुल्क।

मंडी व्यापारियों के लिए खुशखबरी – अब देना होगा 2 प्रतिशत से 1% मंडी शुल्क।

 

लखनऊ, ( कुलसूम फात्मा )     उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मंडी व्यापारियों को राहत प्रदान करने के लिए निर्णय लिया है।
मुख्यमंत्री ने किसानों को मंडियों में अच्छी सुविधा प्रदान करने का निर्णय लेकर वहां काम करने वाले व्यापारियों को भी प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए मंडी शुल्क को कम कर दिया है। सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा मंडी शुल्क समाप्त कर दी गई थी और यह शुल्क समाप्त करने के पश्चात प्रदेश में मंडी परिसर के अंदर 2% मंडी शुल्क तथा आधा प्रतिशत विकास शुल्क लगाया गया जबकि शुल्क में कमी किए जाने से मंडियों की वार्षिक आय भी मानना है की प्रभावित होगी।

मंडी शुल्क खत्म हो जाने से पहले 2019 तथा 20 में मंडी परिषद की वार्षिक आय लगभग 2000 करोड रुपए थी।
और यह शुल्क को समाप्त करने के पश्चात इसकी आय घटकर करीब 12 सौ करोड़ रुपए हो जाने का अनुमान लगाया जा रहा है।

आदित्यनाथ के निर्णय के पश्चात कृषकों को
सुविधा प्राप्त के साथ साथ व्यापारियों को भी प्रोत्साहन मिलेगा। मंडियों में विकास कार्य को तेजी देने के लिए विकास शुल्क की दर अब 0.5 प्रतिशत तक रहेगी।

इसलिए मंडी परिसर के अंतर्गत व्यापार करने का वर्तमान में लागू 2.5% के स्थान पर कुल 1.5% कर ही देना होगा। गुरुवार को यह जानकारी मुख्य कार्यालय ने ट्वीट करके दी।

Leave a Comment