उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य भर में कोविड-19 में चल रही टेस्टिंग प्रयोगशाला में कमी की आकलन करने के लिए धारक विभागों का निर्देश जारी किया .

कोविड-19 योगी आदित्यनाथ का आदेश परीक्षण  सिलसिला को कम ना हो। 

 उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य भर में कोविड-19 में चल रही टेस्टिंग प्रयोगशाला में कमी की आकलन करने के लिए धारक विभागों का निर्देश जारी करते हुए कहा कि जिस क्षेत्र में कोविड-19 का परीक्षण का सिलसिला चल रहा है वहां इस परीक्षण में कमी ना आ सके। 

इस महामारी के आगे रहने के लिए  शुरुआती जांच और प्रभावी निगरानी की कुंजी बताते हुए माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा टेस्टिंग  की गति को खोना नहीं चाहिए अगर हम परीक्षण की गति को खो  देते हैं तो वायरस फिर से अपने चरम सीमा पर आ जाएगा। और फिर से इसे कंट्रोल कर पाना एक मुश्किल टास्क हो जाएगा इसलिए। 

 

आदित्यनाथ ने कहा कि परीक्षण की संख्या को कम ना किया जाए। 

इस  पर निगरानी बनाकर रखा जाए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रयोगशालाओं को उनकी पूर्ण क्षमता के लिए उपयोग किया जाना चाहिए इन संबंधित विभागों को प्रयोगशालाओं में मानव संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करनी चाहिए उत्तर प्रदेश में 42 प्रयोगशालाएं हैं जिन्हें 15 राज्य चिकित्सा संस्थानों तथा महाविद्यालयों में और 10 सरकारी अस्पतालों और निजी क्षेत्र में है  शेष प्रयोगशाला हैं उन संस्थानों में है जो वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के अंतर्गत आते हैं। 

इससे पहले अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा डॉ रजनीश दुबे ने कहा मेडिकल कॉलेज में परीक्षण और रोगों का देखभाल सेवाओं को मजबूत करने के लिए परिवार कल्याण निदेशालय से कर्मचारियों को लेने की प्रक्रिया अंतिम चरण में थी। 

 

 वही बताते हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा गठित की गई टीम में अधिकारियों से बात करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उनके परीक्षण के नियम और नियति को सुधारने की आदेश दिए कोविड-19 वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए निगरानी महत्वपूर्ण है।

कोविड-19  संपर्क को अधिक व्यवस्थित तरीके से किया जाना चाहिए ताकि कोविड-19 को हराने में मदद  मिल सकेगी उन्होंने कहा कि कोविड-19 को देखते हुए महत्वपूर्ण है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही 10 राज्य में अधिकारियों को निर्देश दिया है जो भारत के 80% लोगों को हिसाब दे रहे हैं इसमें यूपी में शामिल है।

कोविड-19  परीक्षण करना सूत्रों ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी में इस  मामले में अधिक पहुंचने पर जोर दिया उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार मामले के लिए कोविड-19 की जांच कम से कम 27 व्यक्ति को कम से कम 40 की जाए मुख्यमंत्री योगी नाथ जो मोहल्ले और गांव को नियंत्रण रखते हुए लोगों को प्रोटोकॉल के बारे में तथा अन्य चीजों की सुविधा भी उपलब्ध कराते हुए जानकारी भी उपलब्ध कराएंगे। 

 

Leave a Comment