मौसम विभाग ने जारी किया एलर्ट, क्या है वजह  मौसम में आए इस बदलाव की !

देश के मौसम विभाग के द्वारा चेतावनी जारी कर दी गई है आपको बता दें 30 सितंबर से दक्षिण पश्चिम मानसून की वापसी का दौर शुरू हो जाता है। इस दौरान मौसम विभाग के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार लौटती हुई मॉनसून अक्टूबर के शुरुआती हफ्ते में कई राज्यों को बारिश से भींगो सकती है। बारिश के साथ साथ इन इलाकों में आंधी उठने की भी आशंका है। 

केरल में भारी बारिश तो राजस्थान-यूपी में लौट सकता है तबाही का तूफान  -glibs.in

हालांकि इस दौरान चिकित्सकों द्वारा लोगों को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की सलाह भी दी जा रही है। उनका मानना है लौटती हुई मॉनसून की वजह से जो बारिश होगी उस वजह से कई तरह की बीमारियां सक्रिय हो सकती है। इसके अलावा उन्होंने लोगों को सुझाव भी दिया है कि वे अपने घरों के बाहर या आसपास पानी का जमाव होने ना दें इससे डेंगू एवं मलेरिया जैसी कई बीमारियों के फैलने की गुंजाइश होती है।

आइए देखते हैं एक नजर कौन से राज्य की जमीन कितनी ज्यादा भींगेगी इस लौटती हुई मॉनसून से-

 

कहां होंगी कितनी बारिश

मौसम विभाग ने जो जानकारी साझा की है उसके अनुसार कई राज्य ऐसे होंगे जहां पर मुसलाधार बारिश देखने को मिलेगी तो वहीं कुछ ऐसे राज्य भी होंगे जहां सामान्य बारिश देखने को मिल सकती है।  

बात अगर असम, नागालैंड, छत्तीसगढ़ मेघालय और त्रिपुरा की करें तो 2 अक्टूबर से 5 अक्टूबर के बीच इन इलाकों में मूसलाधार बारिश होने की संभावना है। वही अगले 5 दिनों के अंदर  उत्तर पश्चिम भारत में लोगों द्वारा शुष्क वातावरण का अनुभव किया जा सकता है

इन राज्यों के अलावा दूसरे राज्य की बात करें तो जानकारी अनुसार  झारखंड पश्चिम बंगाल सिक्किम तेलंगाना तटीय आंध्र प्रदेश मराठवाड़ा तथा मध्य महाराष्ट्र में भी बारिश के छींटे लोगों द्वारा अनुभव किए जा सकते हैं।

 

क्या है वजह  मौसम में आए इस बदलाव की

मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मौसम में आए इस बदलाव के पीछे की बादलों की आवाजाही तथा उड़ीसा के तटीय क्षेत्र के पास लो प्रेशर एरिया के सक्रिय होने की वजह को बताया जा रहा है। उड़ीसा के तटीय इलाके के पास बन रहे कम दबाव के क्षेत्र की वजह से झारखंड में भी कई दिनों तक लोगों द्वारा बारिश अनुभव किया जा सकता है। मिली जानकारी के अनुसार बीते गुरुवार शाम भी कई राज्यों में बारिश देखने को मिली।

Leave a Comment