मौसम विभाग ने निकाली नई तकनीक अब 3 घंटे पूर्व ही पता चल जाएगा मौसम का मूड।

मौसम विभाग ने निकाली नई तकनीक अब 3 घंटे पूर्व ही पता चल जाएगा मौसम का मूड।

 

लखनऊ, ( कुलसूम फात्मा )  मौसम विभाग के द्वारा कुछ बहुत स्थानों पर ऑटोमेटिक वेदर स्टेशन स्थापित करने के बावजूद भी मौसम के बारे में तुरंत जानकारी नहीं मिल पाती जिसके कारण
मौसम में हुए तुरंत बदलाव का पता नहीं चल पाता और इनके द्वारा विभिन्न घटनाएं भी घटित हो जाती हैं और लोगों को नुकसान भी पहुंचता है तो मौसम विभाग अब यह चाहता है कि मौसम के बदलाव का मूड दो-तीन घंटे ही पहले पता कर लिया जाए और अलर्ट जारी कर सके।

 

भारतीय मौसम विभाग उत्तर पश्चिमी हिमालय पर रडार सिस्टम लगाने के प्रयास में लगा हुआ है क्योंकि रडार सिस्टम लगाने के पश्चात जमीन समतल होनी चाहिए होती है। जमीन समतल होनी चाहिए और ऐसा स्थान का चिन्हित करना पड़ता है। जहां पहाड़ या कोई अवरोध ना हो जिससे कि किसी तरह की दिक्कत आए रडार सिस्टम से निकलने वाली इलेक्ट्रॉनिक इलेक्ट्रो मैग्नेटिक तरंगे पहाड़ से टकराकर वापस आ जाएंगी और मौसम के बारे में अनुमान लगाना मुश्किल होगा
जहां पर किसी तरह का अवरोध या फिर पहाड़ होते हैं।
रडार सिस्टम से निकलने वाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंगें पहाड़ से टकराती है और वापस आ जाती है।
इससे मौसम के बारे में सटीक अनुमान नहीं लगाया जा सकता। और रडार के लिए 24 घंटे विद्युत की भी जरूरत पड़ती है जिसके लिए विद्युत सुविधा का होना जरूरी है।

 

कई वर्षों से किए जा रहे प्रयासों के बाद नैनीताल के मुक्तेश्वर में एक रडार सिस्टम जल्द ही स्थापित किया गया है जिसका उद्घाटन 11 नवंबर को किया जाएगा।
इसके पश्चात उत्तर पश्चिम हिमाचल के उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश तथा जम्मू कश्मीर में मौसम के उतार-चढ़ाव को जानने के लिए मौसम विभाग इन राज्यों में भी रडार सिस्टम लगाने की तैयारी में लगा हुआ है।
जिससे की मौसम के उतार-चढ़ाव का दो-तीन घंटे पूर्व ही पता चल जाएगा और होने वाली घटित घटनाएं जैसे कि बादल फटने लैंडस्लाइड होने जैसी घटनाओं से होने वाले नुकसान का बचाव हो पाएगा।

मौसम विभाग जम्मू के पहल गांव में भी रडार सिस्टम स्थापित करने का प्रयास कर रहा है और उत्तर पश्चिम हिमालय के मौसम के बारे में जानकारी ही नहीं वह देना चाहता बल्कि लोगों को इस बात से भी अवगत कराना चाहता है कि रडार सिस्टम से मिली जानकारी को वेबसाइट पर जा कर ले जिससे कि लोग मौसम के उतार-चढ़ाव से हर वक्त अलर्ट रहें।

Leave a Comment