यूपी के नामी अपराधी फिरोज को मुम्बई से लखनऊ ले जाने के क्रम में यूपी पुलिस की गाड़ी पलटने से मौके पर हुई मौत

लखनऊ, यूपी पुलिस द्वारा ठाकुरगंज कोतवाली के नामी अपराधी फिरोज उर्फ शमी को मुम्बई से गिरफ्तार कर वापस लाने के क्रम में पुलिस की गाड़ी मध्य प्रदेश के गुना में एक हादसे का शिकार हो गई। पुलिस की गाड़ी पलटने की वजह से जहां एक और मौके पर ही फिरोज की मौत हो गई वहीं दूसरी ओर जगदीश पाण्डेय जो कि रिंगरोड चौकी के प्रभारी हैं के साथ साथ सिपाही सहित चार अन्य लोग भी गम्भीर रूप से  चोटिल पाए गए। 

मिली जानकारी के अनुसार  रविवार को सुबह 3:00 बजे यूपी पुलिस अपराधी को मुंबई से लेकर लखनऊ की ओर रवाना हुई थी।  सुबह के करीब 7:00 बजे जब उनकी गाड़ी मध्य प्रदेश के गुना के चचोडा इलाके में पहुंची तो रोड पर अचानक से नीलगाय आ गई थी जिसे बचाने के क्रम में गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया और दुर्घटना घटित हो गई। इस दुर्घटना के बाद सभी को अस्पताल ले जाया गया जहां फिरोज को चिकित्सकों द्वारा मृत घोषित कर दिया गया। वहीं चौकी प्रभारी सहित अन्य लोगों का इलाज जारी है।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने  गुना के एसपी से बात करके घायलों के की मदद करने का आग्रह किया। इसके साथ ही साथ उन्होंने  आर्थिक मदद के साथ एक टीम को मृत अपराधी एवं घायल पुलिसवालों के परिवार सहित गुना कि ओर रवाना किया। 

कई सारे मामले थे दर्ज गैंगस्टर फिरोज पर

पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय द्वारा जारी किए गए एक बयान के मुताबिक फिरोज उर्फ शमी बहराइच निवासी था। फिरोज के खिलाफ ठाकुरगंज कोतवाली में कुल छह मुकदमे दर्ज थे जिनमें लूट, चोरी और गैंगस्टर एक्ट सामिल था। गौरतलब है  की  अपराधी वर्ष 2014 से ही पुलिस की गिरफ्त से फरार था। 

मिली जानकारी अनुसार उसके मुम्बई में होने की खबर 3 दिन पूर्व मिलने पर ठाकुरगंज कोतवाली स्थित रिंगरोड चौकी के प्रभारी जगदीश पाण्डेय, सिपाही संजीव सिंह, मुखबिर और ड्राइवर समेत सड़क के रास्ते 25 सितम्बर को मुम्बई  के लिए रवाना हुए थे। वहां पहुंचते ही  मुंबई पुलिस की सहायता से शनिवार रात को इस टीम ने फिरोज को गिरफ़तार कर लिया। गौरतलब है कि  कोर्ट की ओर से फिरोज का गैरजमानती वारन्ट जारी किया गया था।

Leave a Comment