यूपी सरकार का बड़ा निर्णय – आईपीएस अफसरों को किया दंग देखिए सूची।

यूपी सरकार का बड़ा निर्णय – आईपीएस अफसरों को किया दंग देखिए सूची।

 

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )  उत्तर प्रदेश सरकार ने आईपीएस अधिकारियों का प्रमोशन कर दिया वहीं जिनमें से 10 अधिकारियों को सिलेक्शन ग्रेड भी दिया , बता दें की इन आईपीएस अधिकारियों का प्रमोशन जो हुआ उनमें से 1996 की बैच के 4 और 2007 बैच के 10 आईपीएस तथा 2003 बैच के 7 आईपीएस अधिकारियों का प्रमोशन करा।

 

राज सरकार ने 1996 बैच तथा 2003 की बैच और 2007 की बैच के साथ-साथ 2008 की बैच के आईपीएस अधिकारियों जिनकी संख्या 10 को सिलेक्शन ग्रेड दिया  मंगलवार के दिन गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव जिनका नाम अवनीश कुमार अवस्थी है उनकी अध्यक्षता में विभागीय प्रमोशन समिति की मीटिंग हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया ।

 

 

जाने विस्तार से –

 

 

1996 बैच के आईपीएस ऑफिसर सतीश गणेश जो आईजी रेंज आगरा

तथा नवनीत सिकेरा, आईजी बजट
तथा विजय प्रकाश ,फायर सर्विसेज
तथा ज्योति नारायण ,आईजी कानून-व्यवस्था
और आईजी से एडीजी 2003 बैच के आईपीएस ऑफिसर
मोदक राजेश डी राव डीआईजी जो की गोरखपुर
तथा हीरालाल डीआईजी ईओडब्ल्यू
तथा विनय कुमार यादव, डीआईजी अभियोजन
संजय कुमार डीआईजी पीटीएस
और शिव शंकर सिंह डीआईजी पीटीसी
तथा राकेश सिंह डीआईजी देवीपाटन
तथा राजेश पांडे डीआईजी बरेली को डीआईजी से आईजी बना करके इनका प्रमोशन किया गया है।

वहीं दूसरी तरफ यदि हम 2007 बैच की बात करें तो अमित पाठक एसएसपी वाराणसी
तथा योगेंद्र कुमार एसएसपी गोरखपुर
तथा रविशंकर छवि एसएसपी विमेन पावर
तथा विनोद कुमार, एसपी कुशीनगर
तथा प्रतिभा अंबेडकर एसपी तकनीकी सेवा
तथा नितिन तिवारी, डीसीपी नोएडा
और अनिल कुमार सिंह, एसपी एससीआरबी
और डीजीपी मुख्यालय में तैनात हुए पंकज कुमार गोपेश खन्ना। इसके साथ ही अशोक कुमार तृतीय को एसपी से डीआईजी की पोस्ट पर प्रमोट किया गया। इसके अलावा 2008 की यदि बैच की बात करें तो 10 आईपीएस ऑफिसर को सिलेक्शन ग्रेड दिया गया। डीआईजी से आईजी की लिस्ट में दो अफसर अरविंद सेन तथा दिनेश चंद्र दुबे को लिफाफा बंद करके रखा गया है।

हालांकि इन पर भ्रष्टाचार के आरोप भी हैं और जिसकी जांच वर्तमान समय में चल रही है। अरविंद सेन के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई भी वर्तमान समय में चल रही है। इस तरीके से कुल मिलाकर के एडीजी के साथ-साथ 21 आईपीएस अफसरों का प्रमोशन लिस्ट में नाम आया।

Leave a Comment