यूपी सरकार को इस बार सड़क दुर्घटना के नहीं सुनने हैं नए मामले इसलिए हर तीसरे दिन वह तैयार करा रही है  एक नया पुल।

यूपी सरकार को इस बार सड़क दुर्घटना के नहीं सुनने हैं नए मामले इसलिए हर तीसरे दिन वह तैयार करा रही है  एक नया पुल।

 

 

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )    यूपी सरकार ने इस बार पूरी तरीके से ठान लिया है की वह सड़क हादसों के बारे में बिल्कुल भी नहीं सुनेगी इसलिए वह हर दिन ऐसी जगह पर जहां पर वाहनों की संख्या ज्यादा है और दुर्घटनाएं भी ज्यादा होती हैं। वहां पर खास करके एक नए पुल के निर्माण का आदेश दे चुकी है।

 

यही नहीं योगी सरकार सड़कों के भी नए निर्माण पर ध्यान दे रही है। सरकार 10 किलोमीटर लंबी सड़क चोडी़ और मजबूत करवाने का कार्य लोक निर्माण विभाग को सौंप चुकी है। और पब्लिक वर्क डिपार्टमेंट ने इस कार्य को करना प्रारंभ भी कर दिया है।

 

उत्तर प्रदेश सरकार ने वाहनों की संख्या तथा दुर्घटनाओं को देखते हुए हर तीसरे दिन ब्रिज के निर्माण का आदेश दे दिया है और ब्रिज निर्माण प्रारंभ हो चुका है उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गाइड लाइन पर पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट तथा ब्रिज कॉरपोरेशन के साथ ही स्टेट कंस्ट्रक्शन ऑपरेशन निर्माण से जुड़े हुए कार्यों को रफ्तार के साथ पूर्ण रूप से कर रही है।

 

 

इस समय उत्तर प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाने का कार्य और पुल बनाने का कार्य आरओबी तथा फ्लाईओवर कंस्ट्रक्शन का काम इस वक्त बहुत ही तेजी के साथ किया जा रहा है। पीडब्ल्यूडी से जब जानकारी मिली तो उसके अनुसार पता चला की प्रदेश में हर रोज तकरीबन 10 किलोमीटर सड़कों को चौड़ी और मजबूत किया जा रहा है। इसके साथ ही 9 किलोमीटर सड़क का नया निर्माण के साथ-साथ हर तीसरे दिन एक नए ब्रिज का काम पूरा किया जा रहा है।

भाजपा सरकार ने अभी तक के अपने कार्यकाल में 11941 किमी. सड़कों का निर्माण कराया है। इसके साथ ही 1312 8 किमी. सड़कों को चौड़ा और मजबूत बनाया है। दूसरी तरफ 328866 किमी लंबाई में सड़कों को गड्ढा से पूर्ण रूप से मुक्त किया है और चिकना किया है। दूसरी तरफ 397 नए पुलों का निर्माण किया है जिससे की आने जाने वाले लोगों को राहत ट्राफिक से मिली है और दुर्घटनाएं भी कम हुई है।

Leave a Comment