उत्तर प्रदेश सरकार ने 2022 के लिए किया ऐलान , योजनाओं का किया लक्ष्य निर्धारित जाने इसके संबंध में।

उत्तर प्रदेश सरकार ने 2022 के लिए किया ऐलान , योजनाओं का किया लक्ष्य निर्धारित जाने इसके संबंध में।

 

उत्तर प्रदेश,( कुलसूम फात्मा )   यूपी की सरकार ने एक बड़ा ऐलान किया है। वह प्रदेश को अब सोलर ऊर्जा से चमचमाने की तैयारी में लगा हुआ है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2022 तक के प्रदेश को चमकाने का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है।  2022 तक के सीएम योगी प्रदेश को चमचमा देंगे, प्रदेश में 10700 मेगावाट क्षमता की सौर विद्युत परियोजनाओं का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है।

 

सीएम योगी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्धारा  रीजनेबल एनर्जी इन्वेस्टर्स मीट से अनुरोध किया। बता दें कि इस कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री आरके सिंह तथा गुजरात के मुख्यमंत्री भी जुड़े रहे। सीएम ने कहा कि सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जाए और इस को बढ़ावा देने के लिए यूपी सरकार ने कई महत्वपूर्ण कदम भी उठाए हैं।

जैसे के  2017 में सौर ऊर्जा नीति लाई गई। इसके द्वारा सोलर पार्क  की स्थापना भी हुई और थर्ड पार्टी बिक्री के लिए सौर ऊर्जा भी उपलब्ध कराई गई। ओपन एक्सेस दिए गए और लोगों को सौर ऊर्जा के लिए जागरूक किया गया उन्होंने बताया की सौर परियोजनाओं को इस्टैबलिश्ड करने के लिए जमीन में स्टांप ड्यूटी में 100% छूट और इलेक्ट्रिक सिटी ड्यूटी में 10 साल तक की 100% छूट का नियम भी बनाए गए है।

 

जानकारी के लिए उन्होंने बताया कि प्रदेश की सरकार ने सौर ऊर्जा नीति 2017 में प्रोत्साहन के लिए कुछ नियम बनाए थे। जैसे सोलर पावर परियोजनाओं की स्थापना  के लिए जमीन पर 100% स्टांप ड्यूटी में छूट रखी थी। इसके साथ ही इलेक्ट्रिक सिटी ड्यूटी में 10 साल के लिए 100% की छूट के नियम बनाए थे।

 

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए बताया के सौर ऊर्जा नीति के जरिए आमंत्रित बिडिंग के द्वारा 1122 मेगावाट क्षमता की सौर पावर परियोजनाओं को अभी तक के आवंटित किया जा चुका है। उन्होंने यह भी बताया कि सरकार का मुख्य उद्देश्य है के  सबका  साथ सबका विकास हो और प्रयत्न यही है कि प्रदेश के हर एक हिस्से में इन्वेस्टमेंट किया जा सके जिससे कि उन क्षेत्रों का भी पूरी तरीके से विकास हो जो की अभी विकसित नहीं हो सके हैं।

Leave a Comment