लखनऊ।कोविड-19 संक्रमित मरीजों को घर बैठे फोन पर डॉक्टर सलाह मिलेगी।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अब बिना लक्षण वाले कोविड-19 संक्रमित मरीजों को घर बैठे फोन पर डॉक्टर सलाह मिलेगी.

 जिलाधिकारी ने इसके लिए एक हेल्पलाइन की शुरूआत की है जिसकी सेवा आज से शुरू की है इस पर 24/7 घंटे की सहायता प्रदान की जाएगी लखनऊ वासियों को जिससे करना संक्रमित मरीजों को काफी राहत मिलेगी। 

हलके लक्छन वाले वह अपनी समस्याओं को डॉक्टर के साथ विचार-विमर्श करके उचित दवाई ले सकते हैं और जरूरत पड़े तो हॉस्पिटल में एडमिट भी हो सकते हैं।

इससे कोरोना के संक्रमित मरीजों की रोकथाम में काफी मदद मिलेगी  जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने हमारे इंटरव्यू के दौरान कहा की करोना संक्रमित मरीजों के लक्षण वाले के लिए राज्य सरकार ने होम आइसोलेशन का विकल्प दिया है। 

कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए काफी राहत भरी उपाय है होम आइसोलेसन  में कोरोना संक्रमित मरीजों के प्रति जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ने अपने कर्तव्यों को समझाते हुए एवं दायित्व को समझते हुए परामर्श की व्यवस्था की शुरुआत की है। 

इसके तहत जो भी मरीज हो माय होम आइसोलेसन में संबंधित मरीज की नगरिय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को आवंटित कर दिया जाएगा वहां से सारे डॉक्टर अपने टाइम के अनुसार समयानुसार 8:00 बजे प्रातः से रात 8:00 बजे तक उनकी कॉल लेंगे और उनको होम आइसोलेसन कोरोना के संबंधित परामर्श भी देंगे।

जरूरत पड़े तो एंबुलेंस की भी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। 

इसमें से जितने भी चिकित्सक होंगे यह सारे अनुभवी ही होंगे इन चिकित्सालय में एंबुलेंस के जरिए भर्ती कराने की व्यवस्था की जाएगी इसके अलावा हेलो डॉक्टर नामक एक ऐप भी लॉन्च किया जा रहा है। 

जिसमें इंटीग्रेट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को सूचित करेंगे वहां से रोगियों कोरोना संक्रमित मरीजों को लेवल 1 लेवल 2 और लेवल 3 चिकित्सालय में एंबुलेंस के जरिए भर्ती कराने की व्यवस्था की जाएगी।

इसकी समानांतर हेलो एप जो लॉन्च किया गया है राज्य सरकार द्वारा या हमेशा क्रियाशील रहेगा यहां पर 2437 अनुभवी डाक्टर उपस्थित रहेंगे जो सारी गतिविधियों की निगरानी के साथ इन पर कार्यशील रहेंगे।

चिकित्सक से परामर्श लेने हेतु 05223515700  टेलीफोन नंबर पर उपलब्ध हमेशा रहेंगे और होम आइसोलेसन में रह रहे सारे कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए  परामर्श प्रदान करेंगे। 

Leave a Comment