लखनऊ। कोरोना अपडेट। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लिया बैठक “टीम-11” के साथ।

लखनऊ।  योगी आदित्यनाथ  “Team -11” की हुई बैठक इसमें योगी ने कहा कोरोना को परास्त करना हमारा सबसे पहला दायित्व है।  

जब तक हम  पूरी मेहनत और पूरी लगन से इस वायरस को खत्म करने का प्रयास नहीं करेंगे तो यह खत्म नहीं होगा उनका कहना है कि  लोगों में अभी भी जागरूकता की कमी है।

उन्होंने निर्णय लिया है कि जागरूकता बढ़ाने के लिए  घर-घर उनकी टीम जाए और उन को जागरूक करें कोरोना वायरस के प्रोटोकॉल के बारे में और यह संक्रमण कैसे होता है। यह क्यू और कैसे आपस में फेल रहा है। उनको क्या जरुरी उपाय अपनानी है।  

इन सब विषय पर चर्चा करते हुए उन्हें सलाह दिया की जैसे भी हो इस वायरस को हमें हराना ही है।

फिलाल आपने देखा होगा कि लखनऊ में सबसे ज्यादा केस है करोना का और दिन-प्रतिदिन भयानक रूप  रोज मिलता जा रहा है। 

इसकी संख्या इतनी है कि पूरे प्रदेश का भी आंकड़ा अगर देखा जाए तो लखनऊ सबसे अव्वल रहेगा।  यह चिंताजनक विषय है योगी आदित्यनाथ कहते हुए कहा कि सारी जरूरतों की चीजों को अपनाया जाए तथा इन सारे कार्यों को बिल्कुल ही नजरअंदाज नहीं कर सकते। 

यह बीमारी बहुत ही खतरनाक और भयावह है और यह एक महामारी है इसे लोगों को समझना पड़ेगा और सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क का भी प्रयोग करना पड़ेगा और उन्होंने यह भी कहा बेवजह वह घर से ना निकले अति अनिवार्य है तो  ही घर से बाहर जाएं और सुरक्षा के साथ जाए। 

Coronavirus postive toll reaches to 214 in Udaipur | उदयपुर ...

योगी आदित्यनाथ का कहना है कि प्रदेश में एक लाख टेस्ट प्रतिदिन कराया जाए और इसकी कार्ययोजना बनाकर उनके समक्ष प्रकट किया जाए।  

योगी आदित्यनाथ का कहना है कि 3000000 से अधिक की आबादी वाले क्षेत्रों में रैपिड एंटीजन टेस्ट के द्वारा 2000 टेस्ट प्रतिदिन तथा उसमें कम जनसंख्या वाले जिलों में कम से कम 1000 टेस्ट   विधि के माध्यम से प्रतिदिन किया जाए। 

जिससे यह सुनिश्चित हो जाएगा कि इन क्षेत्रों में कोरोना मरीज कितने हैं और संक्रमित कितने हैं जिससे यह साफ हो गया कि की व्यवस्था कैसी बनाई जाए और देखा जाए तो प्रशासन ने भी कई कड़े कदम उठाए हैं।कोविड-19ः WHO के आंकड़ों में दुनिया के ...

अभी यूपी के जिला बलिया में पिछले 1 जुलाई से अभी तक लॉकडॉन चल रहा है जिस वजह से वहां पर कोरोना का केस कम होता नजर आ रहा है। 

हालांकि पिछले महीने कोरोना का केस बलिया जिले में काफी उफान पर था जिस वजह से यह कड़े कदम उठाने पड़े और इसका बढ़िया असर दिखता हुआ जिले में कोरोना का संक्रमण काम ही  मिल रहे है।

अब बलिआ जिले भी कोरोना संक्रमित लोग कम पाए जा रहे हैं। 

तथा उन्होंने अपने भाषण में यह भी बताया कि जिले में चुस्त-दरुस्त व्यवस्था कराई जाए और हर जगह हर दुकान पब्लिक प्लेस पर सैनिटेजशन की व्यवस्था की जाएगी और यह एक अनिवार्य कार्य हो जाएगा इसकी पहल भी अनिवार्य होगा। 

योगी आदित्यनाथ ने कहा फ़िलहाल कोरोना काबू  में है अगर जरूरत पड़े तो वह सारे संभव  उपायों को करेंगे जैसे कुछ निजी अस्पताल और निजी रेस्टोरेंट होटल उसको भी साथ में वह कॉन्ट्रैक्ट स्तर पर काम करके उनको भी मिलाया जाएगा और  कोरोना संक्रमितओं को रखा जाएगा।  

Leave a Comment