लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी का अहम फैसला बना रहा है विकास प्राधिकरण नई योजना जानें क्या है नई योजना किस प्रकार लोगों को देने वाला है राहत ?

लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी का अहम फैसला बना रहा है विकास प्राधिकरण नई योजना जानें क्या है नई योजना  ,
किस प्रकार लोगों को देने वाला है राहत ?

 

 

 

 

लखनऊ, ( कुलसूम फात्मा )   जी हां, लखनऊ विकास प्राधिकरण ने एक अहम फैसला लिया है जिससे की तकरीबन 4 हजार एकड़ की बस्तियां बनने वाली है। यह बस्तियां सुल्तानपुर रोड पर बनाई जाएंगी इस योजना के द्वारा किसानों को अधिक लाभ मिलेगा। और किसानों को रोजगार भी दिया जाएगा जिससे की उनको रोजी-रोटी में राहत प्राप्त हो।

 

शुक्रवार को डीएम तथा लविप्रा पूरा उपाध्यक्ष जिनका नाम अभिषेक प्रकाश है उन्होंने ने बताया की यह तकरीबन 8 गांवों के प्रधानों के साथ मीटिंग करने के पश्चात निर्णय लिया गया जिसमें यह पूरी तरीके से जाहिर हुआ की किसानों के द्वारा जमीन लखनऊ विकास प्राधिकरण को दी जाएंगी

और उन जमीनों के द्वारा किसानों को वह रोजगार प्रदान करेगा यही नहीं डेवलपमेंट अथॉरिटी किसानों को 25% जमीने वापस भी देगा। रोजगार भी प्रदान कराएगा रोजगार प्रदान करने का जरिया दुकाने होंगी। इसका उद्देश्य यह होगा की किसानों को रोजगार प्राप्त हो  अभिषेक कुमार ने यह भी बताया की यह योजना जल्द ही प्रारंभ हो जाएगी। किसानों से जल्द लैंड पूलिंग योजना के जरिए जमीन ले ली जाएगी

 

डेवलप अथॉरिटी के अर्निंग डिपार्टमेंट से जुड़े हुए अधिकारियों से जब बातचीत की तो पता चला की यह 4000 एकड़ की बस्तियां होंगी जिसमें खसरा नंबर पूर्व से ही होगा जो 17 एकड़ की बस्ती से बिल्कुल भिन्न होगा। इस नई टाउनशिप का सुल्तानपुर रोड पर पूर्व की बस्ती से कोई दूर दूर तक के वास्ता ना होगा। इस टाउनशिप में तकरीबन 9 गांव हैं और जो बस्ती 4000 एकड़ की हैं, उनमें 8 गांव हैं, जिनमें बाजपुर चौराया, ढकवा, मुलकपुर अन्य सम्मिलित है।

 

इस योजना के द्वारा काटे जाएंगे हर वर्ग के भूखंड

 

 

डेवलपमेंट अथॉरिटी की इस प्रपोजड स्कीम में जिन लोगों को आवश्यकता है उनके लिए ई डब्ल्यूएस मकान बनवाएगा। वहीं दूसरी ओर 75901,12150 तथा 200 वर्ग मीटर के भूखंड भी देगा। रोजगार प्रदान कराएगा और वाणिज्यिक भूखंड को अलग से बेल्ट बनवाया जाएगा। अभी इन भूखंडों के दामों को तय नहीं किया गया है। हां, जो लोग इकट्ठा पैसा जमा करने में दिलचस्पी लेंगे। उनको पहले की तरह छूट जरूर दी जाएगी।

 

इसके साथ ही डेवलपमेंट अथॉरिटी की स्कूल, पेट्रोल पंप तथा फायर स्टेशन की जमीन को बेचने की तैयारी कर रहा है। इस योजना में स्कूल के लिए प्लॉट के साथ-साथ पेट्रोल पंप तथा दमकल केंद्र फैसिलिटी प्लॉट भी डेवलपमेंट अथॉरिटी बेचने वाला है। जिसमें सामुदायिक केंद्र के साथ उप केंद्र को भी बनवाएगा जिसमें किसानों को प्रायरिटी दी जाएगी।

 

जाने आखिर लैंड पूलिंग योजना है क्या ?

 

 

लैंड पूलिंग योजना के जरिए किसान को तकरीबन एक चौथाई जमीन डेवलप करके दे दी जाएगी। इस जमीन को देने का उद्देश्य होगा की उनको रोजी-रोटी प्राप्त हो   अब इस जमीन को चाहे किसान नक्शा पास करा ले या फिर जमीन को बना करके भेच दे। यह किसान की मर्जी होगी। प्राधिकरण इसके साथ-साथ इन जमीनों पर सिविल तथा पेयजल की फैसिलिटी भी उपलब्ध कराएगा।
इस सुविधा के बदले किसान को कोई भी खर्च नहीं करना पड़ेगा।

Leave a Comment