लखनऊ में एलडीए में दौड़ रहे हैं 20 साल से मकान का कब्जा हटवाने के लिए लोग , शिकायतें की गई दर्ज होता क्या है अब आदेश , जानिए विस्तार से।

लखनऊ में एलडीए में दौड़ रहे हैं 20 साल से मकान का कब्जा हटवाने के लिए लोग , शिकायतें की गई दर्ज होता क्या है अब आदेश , जानिए विस्तार से।

 

 

लखनऊ, ( कुलसूम फात्मा ) शुक्रवार को लखनऊ के एलडीए में लोग बड़ी संख्या में शिकायत लेकर पहुंचे तो अधिकारी घबरा गए और जब उन्होंने सुना के 20 वर्ष से लोग प्रयत्न कर रहे हैं तो उन्होंने भी सख्त कार्यवाही करने की सूची।

 

जो लोग एलडीए शुक्रवार के दिन शिकायत लेकर के पहुंचे उनके मकानों पर तकरीबन 20 वर्ष से कब्जा है और उनकी सुनवाई नहीं की जा रही है। वह 20 वर्ष से दौड़ रहे हैं, परंतु अभी तक के नहीं अवैध कब्जे के खिलाफ कोई भी कदम नहीं उठाया गया और लोग उनके मकान में मालिकों के तरह रैह रहें हैं।    जैसे ही उन्हें शिकायत करने का मौका मिला तो वह इस अवैध कब्जे से संबंधित शिकायत को लेकर कैंप के अधिकारियों के सामने पहुंच गए। कैंप के अधिकारियों ने इसे जल्द से जल्द निपटाने का आदेश दिया।

 

शुक्रवार के दिन एनडीए की ओर से गोमती नगर तथा कानपुर रोड योजना में आवंटित की दिक्कतों को सुनने के लिए शिविर लगाया गया था। अभी कैंप लगा तो इस कैंप में काफी संख्या में लोग शिकायत लेकर अपनी-अपनी पहुंच गए। अधिकारियों ने जब इन लोगों की शिकायत सुनी तो उसको हल करने का जल्द से जल्द निर्देश दिया। इसके साथ ही कानपुर रोड सेक्टर d1 के चंद्रभूषण भी वहां पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि यहां एसएस 2648 नंबर का प्लॉट आवंटित है।

 

 

और उस मकान पर अवैध कब्जा भी है जिसके कारण वह उसकी रजिस्ट्री नहीं करा पा रहा है। ओटीएस योजना में आवेदन कर के कास्टिंग भी कराई है कब्जा प्राप्त हो तो वह पैसा जमा करें। इसकी रजिस्ट्री करा करके स्वयं रहना प्रारंभ करे  कैंप में मौजूद ओएसडी राजीव कुमार ने उन्हें जल्द से जल्द अवैध कब्जा हटाकर के रजिस्ट्री कराने का सहारा दिया। इसी तरीके से प्रवेश आनंद शर्मा ने भी आशियाना के सेक्टर एम के भूखंड संख्या 145 की रजिस्ट्री के लिए रिक्वेस्ट की।

 

उनकी भी दिक्कत को जल्द से जल्द हल किया जाए। निर्देश दिए भीमनगर यहियागंज तथा चौक के कौशल कुमार ने अपने भूखंड ff14 /a3 की रिपेयरिंग कराने की मांग की। उन्होंने कहा की अभी तक के भूखंड में काम काफी कार्य बाकी है और लगातार शिकायतें भी की मगर कोई सुनवाई नहीं हो रही है।    अधिकारी सुनवाई ही नहीं करते हैं। इसी तरीके से गोमती नगर में भी बहुत ज्यादा तादाद में लोगों ने भूखंड के कब्जा प्राप्त करने के लिए शिकायत दर्ज करवाई।

Leave a Comment