लखनऊ वासियों के लिए खुशखबरी – लखनऊ ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में बनेंगे अब नई टेक्नोलॉजी से मकान , हर घर पर देगी सरकार सब्सिडी ,जाने कितनी होगी यह सब्सिडी।

लखनऊ वासियों के लिए खुशखबरी – लखनऊ  में बनेंगे अब नई टेक्नोलॉजी से मकान , हर घर पर देगी सरकार सब्सिडी ,जाने कितनी होगी यह सब्सिडी।

 

 

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा )   पूरे प्रदेश में नई टेक्नालॉजी द्बारा लाइट हाउस और मकान बनाने का प्रयत्न किया जा रहा है। और यह सर्वप्रथम लखनऊ से प्रारंभ किया जाएगा। और लखनऊ में व्यापक प्रचार करने का सामूहिक रूप से कार्य प्रारंभ हो चुका है।

 

उत्तर प्रदेश सरकार नई टेक्नोलॉजी के मकान को बनाने के लिए प्रयास कर रही है जिसमें एक मकान पर 5.33 लाख रुपए का अनुदान किया जा रहा है, जिसमें राज्य सरकार के अलावा केंद्र सरकार भी सहायता प्रदान कर रही है। लखनऊ में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सेंट्रल गवर्नमेंट की सहायता से लाइट हाउस योजना भी प्रारंभ जल्द ही होने जा रही है। दिसंबर की 1 तारीख को प्रधानमंत्री इस योजना की नींव रखेंगे

 

ये मकान नई टेक्नोलॉजी के द्वारा बनेंगे और जल्दी ही बनकर तैयार हो जाएंगे। बता दें की यदि वर्तमान समय में इस नई टेक्नोलॉजी से मकान बनाने के लिए कंपनी के पास निर्माण के रिसोर्स नहीं है। क्योंकि निर्माण लागत ज्यादा लग रही है क्योंकी यह मकान तकरीबन छह लाख में बन जाते हैं। परंतु इन्हें बनाने में नई तकनीक अपनाने पर लगभग 12.59 लाख का खर्च आ रहा है।

 

 

निदेशक जिनका नाम उमेश प्रताप सिंह है, उन्होंने कहा के मकान की लागत बढ़ गई है क्योंकि इसमें अभी ज्यादा कंपनियां काम नहीं कर रही हैं इस तकनीक को बाढ़ावा देने के लिए सेंट्रल गवर्नमेंट तथा स्टेट गवर्नमेंट इसमें सब्सिडी भी दे रही है। उन्होंने बताया कि जैसे ही तकनीकी का प्रचलन हो जाएगा। नई कंपनियां कार्य करना भी प्रारंभ कर देंगी। इसके पश्चात मकान के बनने में लागत भी कम हो जाएगी। यह मकान पूरे स्टील पर बनेंगे। मजबूती में कहीं से भी कमी नहीं रखी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि टेक्नोलॉजी को पूरे प्रदेश में इससे बढ़ावा भी मिलेगा।

 

जाने हर एक मकान पर कितना मिलेगा अनुदान?

 

 

आपको बता दें कि इस नई टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देने के लिए हर एक मकान पर सरकार 5.33 लाख रुपए का अनुदान देगी। इससे लाभ भी मिलेगा आम आदमी को हे नहीं कंपनी को भी फायदा इससे पहुंचेगा। कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को अपनाएंगी और कम वक्त में अधिक काम करेंगी।  वहीं लोगों को भी पूर्व को देखते हुए बहुत कम वक्त में मकान उपलब्ध हो जाएगा। उन्हें मकान के लिए पांच वर्ष तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। 5.33 लाख में चार लाख सेंट्रल गवर्नमेंट तथा 1.33 लाख राज्य सरकार अनुदान दे रही है।

 

 

 ऐसी कैटेगरी के मकान बनवाने पर मिलेगी ढाई लाख की और ज्यादा सब्सिडी जाने वह कौन से मकान बनेंगे जिसमें मिलेगी सबसे अधिक सब्सिडी

 

बता दें की जो विकास प्राधिकरण तथा अन्य सरकारी संस्थाएं हैं जैसे कि ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के मकान बनने पर उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के जरिए तकरीबन ढाई लाख रुपए सब्सिडी दी जाएगी। इस तरह तकरीबन 12.5900000 रुपय के मकान की कीमत में यह ढाई लाख रुपए और कम हो जाएंगी। इसके साथ ही इसके अलावा 5.33 लाख रुपए टेक्नोलोजी को बढ़ावा देगा। केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार से दी जाने वाली सब्सिडी की रकम भी कम कर दी जा रही है।

Leave a Comment