लखनऊ वासियों हो जाएं सावधान लखनऊ में घूम रहा है खतरनाक जंतु।

लखनऊ वासियों हो जाएं सावधान लखनऊ में घूम रहा है खतरनाक जंतु। 

आज का लखनऊ हो गया है खतरनाक घूम रहा है तेंदुआ जो लोगों की जान भी ले सकता है यह तेंदुआ काफी खतरनाक है यूं बता दे कि कुछ दिन पहले यह अफवाह फैली थी कि लखनऊ में तेंदुआ देखा जा रहा है।लेकिन यह अफवाह अब बिल्कुल ही सच है।

इसे अफवाह नहीं बोल सकते बंथरा क्षेत्र में दो तेंदुआ शिकार की तलाश में घूम रहे यहां राष्ट्रीय वनस्पति स्थान परिसर एनवीआरआई में दो तेंदुआ होने की जानकारी उजागर की गई है या काफी खतरनाक है क्योंकि यह जंगली जानवर है आए दिन लोगों पर या किसी भी जीव जंतु पर शिकार कर उन्हें खाने की प्रयास कर रहे हैं।

इस तेंदुए को वन विभाग ने ट्रैकिंग की व्यवस्था बनाते हुए ट्रैकिंग की की थी करीब 7 मीटर जमीन के हिस्से को साफ करने के बाद। 

उसे मिट्टी और बालू के जाल बनाई गई थी फ़साने के लिए एनबीआरआई परिसर में जहां जगह ट्रैकिंग की गई थी जिसमें दो जगह तेंदुआ का जाने का रास्ते में उसके पैर के निशान पाए गए यह देखते हुए वन विभाग के कर्मचारियों ने अन्य अलग-अलग जगहों पर इसको ट्रैकिंग किया और उन जगहों पर भी तेंदुआ के खतरनाक पंजे का निशान उपलब्ध हुआ।

इन सब चीजों को देखते हुए वन विभाग के कर्मचारियों ने लखनऊ सिटी में डेरा डाला हुआ है। 


कर्मचारियों के हिसाब से हिंदुओं को जल्द से जल्द खोज लिया जाएगा और उनको उचित जगह पर छोड़ दिया जाएगा वन विभाग के कर्मचारियों का कहना है.

कि जब तक ये मिल नहीं जाते तब तक सतर्कता बरतना ही सही रहेगा हमारी टीम से बातचीत के दौरान ट्रैकिंग टीम  में लगाए गए क्षेत्रीय वन अधिकारी अभिषेक के मुताबिक तेंदुए की लोकेशन का पता लगाया जा रहा है।

लोगों को उन्होंने साफ स्पष्ट बोला है कि अगर वह खेत जा रहे हैं या खेत खलियान कभी किसी काम से बस जा रहे हैं तो सतर्कता बरते हैं लाठी डंडा हाथ में रखे तथा टॉर्च भी साथ में रखें और हमेशा चौकन्ना रहे क्योंकि यह तेंदुआ जंगली हैं और कभी भी किधर से भी किसी के ऊपर हमला कर सकते हैं।

जिससे उनकी जान को जोखिम हो सकता है और वह घायल भी हो सकते हैं इस वजह से वन विभाग के कर्मचारियों ने सभी को अलर्ट जारी कर दिया है।

देखा जाए तो यह आए दिन ऐसी घटनाएं लखनऊ में होती रहती हैं। 

जिससे घटना होने की संभावना बनी रहती है यह तेंदुआ जैसी नीलगाय हो और आवारा पशुओं से फसलों को बचाने के लिए खेतों की रखवाली कर रहे किसानों ने भी रात को या रखवाली बंद कर रखी है।

बता दें कि करीब सप्ताह भर पहले एनबीआरआई जंगल के पीछे खेतों में अंधे पुर गांव के एक युवक ने तेंदुआ को देखने की सूचना अस्पष्ट की थी जिसके बाद पुलिस और वन विभाग के सारे टीम मौके पर आकर जांच जारी रखी और इस जांच में पाया गया कि वाकई में लखनऊ में घुस चुका है।


गोमती नदी के कछुआ और कठवारा जंगल में उसके भोजन पानी का व्यवस्था ठीक-ठाक हो जाता है जिसे तेंदुए का पेट भरा रहता है जिस वजह से वह घनी आबादी वाले क्षेत्र में अभी नहीं आ रहा है माना जा रहा है कि तेंदुआ शहर के विभिन्न ग्रामीण इलाकों से होकर बंथरा पहुंचा है

Leave a Comment