बिजली उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी, अब उपलब्ध कराई जाएंगी सस्ती दरों पर बिजली।

बिजली उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी, अब उपलब्ध कराई जाएंगी सस्ती दरों पर बिजली।

 

उत्तर प्रदेश राज्य उपभोक्ता परिषद अब बिजली को सस्ती दरों पर उपलब्ध कराए जाने का पूरी तरह से प्रयत्न करेंगे। इसके लिए यह परिषद के जरिए जल्द से जल्द विद्युत नियामक आयोग में याचिका को दायर करेंगे

आंकड़ों के मुताबिक राज्य के कम से कम तीन करोड़ उपभोक्ताओं को बिजली दर कम कराने का प्रयत्न किया जाएगा और आयोग में याचिका दायर करने के पश्चात परिषद बिजली कंपनियों पर निकल रहे कम से कम 19537 करोड़ रुपए उपभोक्ताओं को दिलाए जाने संबंधित मुद्दों को उठाया जाएगा।

विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा से जब वार्तालाप हुआ  –

विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा से जब वार्तालाप हुआ तो उन्होंने बताया की राज्य के तीन करोड़ उपभोक्ताओं के लिए बिजली दर कम कराने की कोशिशें बड़ी ही तेजी के साथ की जा रही है। उन्होंने बताया कि जब प्रदेश की 2019 तथा 20 में बिजली दरें घोषित की गई थी तब वह उस समय बिजली उपभोक्ताओं का 2017 तथा 18 के तकरीबन 13337 करोड़ रुपए बिजली कंपनियों पर ही निकल रहा था। यदि देखा जाए तो 2020 और 21 में उपभोक्ताओं का बिजली कंपनियों पर सिर्फ 800 करोड़ रुपए निकलेगा।

और यदि इसका ब्याज जोड़ा जाए तो 13337 करोड़ रुपए का इस समय तकरीबन 18737 करोड़ रुपए ब्याज निकलेगा और यदि 800 करोड़ पर का ब्याज निकाला जाए तो यह ब्याज 12537 करोड़ पर निकलेगा।
उपर्युक्त धनराशि परिषद उपभोक्ताओं को वापस कराने का बहुत जल्द प्रयत्न पूर्ण करेगा यदि किसी कंपनी की आर्थिक स्थिति सही ना होने के कारण वो पैसे उपभोक्ताओं को वापस नहीं कर पा रही है तो इसको 3 सालों में वापस करने की योजना की सहूलियत दी जाएगी।
और योजना बनाये जाने के पश्चात इस योजना के अनुसार ही 3 सालों में हर वर्ष बिजली दरों में 10 फ़ीसदी की कमी कर इसका फायदा उपभोक्ताओं को प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment