सफाई अभियान के दौरान अधिकारियों ने लगाया बस्ती के लोगों पर ही आरोप जिससे भड़की पब्लिक और हो गई लड़ाई।

सफाई अभियान के दौरान अधिकारियों ने लगाया बस्ती के लोगों पर ही आरोप जिससे भड़की पब्लिक और हो गई लड़ाई।

 

लखनऊ, ( कुलसूम फात्मा )   लखनऊ। शहर में सफाई अभियान के दौरान अधिकारियों तथा जनता के बीच लड़ाई हो गई। अधिकारियों से नोकझोंक में स्थानीय लोगों ने जातिसूचक शब्दों के इस्तेमाल का आरोप लगाया है। अधिकारियों पर और हंगामा खड़ा कर दिया है। इस लड़ाई के पश्चात नगर निगम टीम को इस अभियान को ही आधे पर छोड़ कर के वापस लौटना पड़ गया। उधर लोगों ने अपर नगर आयुक्त के विरुद्ध एससी एसटी आयोग से शिकायत की और इंसाफ की गुहार लगाई है।

 

सोमवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सुबह के समय लगभग 10:00 बजे लाल कुआं वार्ड के महाकालेश्वर मार्ग पर स्थित मलिन बस्ती में हाथ सफाई अभियान को चलाया गया था और जब महानगर निगम टीम पहुंची तो टीम का टीम की देखभाल अपर नगर आयुक्त डॉ अर्चना द्विवेदी करें थे। जहां तक ठीक-ठाक है नगर निगम टीम वहां पहुंची और सफाई अभियान प्रारंभ किया परंतु इसके बीच में ही।

अधिकारियों ने स्थानीय लोगों पर ही आरोप लगाना गंदगी का शुरू कर दिया। इसके साथ ही जातिसूचक शब्दों का भी प्रयोग किया अभियान के लिए नगर निगम टीम जो पहुंची थी। उनको उस स्थान से फिर अभियान को बीच में ही छोड़ कर के जाना पड़ा।

स्थानीय लोगों ने अधिकारियों पर आरोप लगाया है की नगर निगम टीम ने ठेलों को ज़ब्त करना प्रारंभ कर दिया था। साथ ही चालान काटने की भी कार्यवाही करने लगे थे। इस पर वहां पर जो लोग मौजूद थे, वह अधिकारियों पर भड़क गए थे और नगर निगम टीम और स्थानीय लोग आमने-सामने हो गए आमने सामने होने पर उनमे झड़प भी हुई अपर नगर आयुक्त ने जातिसूचक शब्दों का भी प्रयोग किया जिससे की वहां की पब्लिक उन लोगों पर भड़क गई। नारेबाजी प्रारंभ हो गई। हंगामा बढ़ने पर नगर निगम टीम को अभियान के बीच ही वापस लौटना पड़ा।

Leave a Comment