हर क्षेत्र के साथ-साथ अब महिलाएं दे रही हैं  पुरुषों को खेती में भी टक्कर।

महिलाएं दे रही हैं  पुरुषों को खेती में भी टक्कर।

बहराइच, ( कुलसूम फात्मा )   हर क्षेत्र में तो महिलाएं पुरुषों को टक्कर दे ही रहे थी परंतु इस बार सबसे कठिन और पारिश्रमिक कार्य में भी अब महिलाओं ने पुरुषों को टक्कर देना प्रारंभ कर दिया है।
अब पुरुषों को अपनी सोच बदलनी पड़ेगी की महिलाएं सिर्फ घर के लिए ही बनी है। वर्तमान समय में महिलाएं अब घर में बैठना नहीं चाहती हैं। वह खाली समय में आय का जरिया बनाना पसंद करती हैं कुछ महिलाएं सर्विस कर के और जो महिलाएं ग्रामीण इलाकों की है। उन्होंने अपने आय का स्रोत खेती को बना लिया है इस तरह से वह आए प्राप्त करने के साथ-साथ घर में भी पूरी तरह से जिम्मेदारियों को निभातीे हैं
यदि देखा जाए तो वह पुरुषों के मुकाबले अधिक कार्य कर रही हैं
इस बात को देखते हुए पुरुषों को अपनी सोच में तब्दीली लानी ही पड़ेगी और इस कार्य को करने में पूरी तरह से सरकार सहयोग कर रही है।

बहराइच में महिलाओं ने उत्पादन के क्षेत्र में पुरुषों को दिया टक्कर।

जाने इन महिलाओं के बारे में।

सरस्वती जोकि चित्तौरा ब्लॉक के सुआपारा की निवासिनी है और यह परंपरागत तरीके से खाद्यान्न तथा गन्ने की खेती करने में दिलचस्पी रखने वाली महिला है।
यह गन्ने की खेती करके सामान्य लाभ प्राप्त कर रही है और उद्यान विभाग की सहायता से राज्य औद्योनिक मिशन योजना के तहत पाली हाउस का निर्माण करवाकर जरवेरा फूलों के खेती प्रारंभ की और इन फूलों को लखनऊ तथा दिल्ली तक के भेजती हैं जिससे सरस्वती को काफी लाभ प्राप्त होता है।

पार्वती देवी, शिमला मिर्च तथा प्याज़ बैगन और करेला लौकी की कर रही है खेती।

पार्वती देवी जोकि चित्तौड़ ब्लॉक के पुरवा गांव की निवासी है और यह कृषक स्वयं सहायता समूह से जुड़ी उसके पश्चात खेती करना पार्वती देवी ने प्रारंभ किया।
इन्होंने सरकार योजना से नेट हाउस का निर्माण करवाया और साथ ही कृषि लागत को कम करने के लिए वह प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के जरिए  ड्रिप, स्प्रिंकल व माइक्रो स्प्रिंकल की पद्धति को अपनाया और  सिंचाई कर प्याज बैगन मिर्च करेला लौकी शिमला मिर्च की खेती कर रहीं हैं।

आत्मनिर्भर श्यामकली।

श्यामकली स्वयं सहायता समूह की सहायता से जैविक खेती को कर रही हैं और राधा संकर प्रजाति के शिमला मिर्च के साथ ही प्याज बैगन मिर्च करेला लौकी आदि जैविक खेती को बढ़ावा दे रही हैं
श्यामकली ने भी अपनी खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की सहायता ली है उन्होंने नेट हाउस का निर्माण भी कराया है श्यामकली चित्तौड़ ब्लाक के रायपुर गांव की निवासी है

Leave a Comment