रेलवे बोर्ड ने गाइडलाइन को फॉलो ना करते हुए, आला हजरत एक्सप्रेस को समय से पहले मंजिल तक पहुंचाया।

रेलवे बोर्ड ने गाइडलाइन को फॉलो ना करते हुए, आला हजरत एक्सप्रेस को समय से पहले मंजिल तक पहुंचाया।

 

 

आला हजरत एक्सप्रेस को चलाने के लिए रेलवे बोर्ड ने दिशा निर्देश दिए थे। की आला हजरत एक्सप्रेस 26 अक्टूबर को भुज से बरेली आएगी। परंतु मुरादाबाद डिवीजन के अधिकारीयों ने समय से पूर्व ही एक्सप्रेस को चलवा दिया जिससे वह यात्री जिनका रिजर्वेशन इस ट्रेन में था, वह अपनी यात्रा ट्रेन पहले चलने के कारण ना कर सकें।

जिन यात्रियों ने इस ट्रेन की यात्रा की उनकी संख्या 27 थी जबकि रिजर्वेशन ट्रेन में 43 यात्रियों का था।
मतलब कि 16 यात्री रिजर्वेशन होने के पश्चात भी ट्रेन की यात्रा ना कर सके।

रेलवे बोर्ड ने 22 अक्टूबर को आला हजरत एक्सप्रेस की रवानगी के सम्बन्ध में पत्र जारी कर बताया था की 26 अक्टूबर को आला हजरत एक्सप्रेस भुज से बरेली की ओर जाएगी और 27 अक्टूबर की सुबह 6:15 बजे बरेली जंक्शन से भुज को जाएगी।
परंतु गाइडलाइन के अनुसार एक्सप्रेस को समय से पहले चला दिया गया जिससे कि 16 यात्रियों की ट्रेन छूट गई जबकि इस ट्रेन का किराया पहले से डबल कोरोना महामारी के कारण कर दिया गया है। रेल अधिकारियों से वार्तालाप करके पता चला के आला हजरत एक्सप्रेस का रैंक बरेली जंक्शन पर ही था। इसलिए बरेली से ही गाड़ी
को 26 अक्टूबर को प्रारंभ करा दिया गया।

यह ट्रेन हफ्ते में केवल 3 दिन ही बरेली से भुज को जाती है। और थर्ड एसी का किराया 505 रू की जगह
10005 ₹ दुगना कर दिया गया है हालांकि स्लीपर में 180 रुपए की जगह अभी 385रू बढ़ाए गए हैं। रेल अधिकारियों ने बताया की यह गाड़ी सवा महीने में पूजा स्पेशल नाम से जानी जाएगी।

Leave a Comment