Smart Work Kese Kare?

Smart work and time management

Hi, दोस्तों कैसे हो आप लोग आशा करता हु अछए ही होंगे ! आज हम बात करने वाले है ! Brain Tracy की book (Eat That Frog ) से !
brain Tracy – कहते है जब सुबह सुबह जागते हो तो एक जिन्दा मेंढक खा लो और दिन की सुरवात वही से करो दिन Bhot अच्छा बीतेगा !
आप भी सोच रहें होंगे मए ये क्या बोल रहा हु खेर ये बातें में नहीं बोल रहा हु ये बातए बुक के ऑथर बोल रहे है ! वो सच में नहीं कह रहे की आप सुबह सुबह जग कर मेंढक खा लो उनका ये मतलब नहीं की आप सच में ये करो वो तो बस ये समझाना चाहत्ये है की आप दिन की सुरवात में ही अपने सबसे भरी वाला काम कर के निपटा दो जो आपको सबसे मुश्किल लगता हो ! इस से यह होगा की आप फिर उस काम को निपटा कर दिन भर बड़े सुकून से अपना और कोई भी काम कर सकते है !
आप ने भी दोस्तों कई बार फील किया होगा की कोई भी बड़ा काम ख़तम करकेबड़ा आराम फील होता है यह सिर्फ हामरे साथ ही है बल्कि सबके साथ होता होता है !
यह इसलिए ऐसा होता है हमरा ब्रेन एक एंड्रोफिन नाम का केमिकल रिलीज़ करता है जिस से हमें हररम का अनुभव होता है !
ये साडी चीजे संभव है आप अपने कठिन से कठिन काम को बड़े आराम से कर सकते हो विथाउट स्ट्रेस लिए ! इस से कई फायदे है हमें अच्छा तो फील होगा ही और हमरा सेल्फ स्टीम बढ़ेगा और कॉन्फिडेंस बूस्टअप होगा !

ये चिज्ये कैसे पॉसिबल है brain Tracy कुछ फार्मूला उन्होंने बतया है जो मए आपके साथ शेयर करूँगा !
जिस से आप अपने करियर में हाई तक जाने बड़ी आसानी होगी ! जिससे आप अपना लाइफ गोल्स पूरा कर सकोगे !

Part wise samajhtye hai

तो चलए सुरु करतये है !
1 setting the table – कई बार दोस्तों हमें पता ही नहीं होता की हमें करना क्या है बस रोज मरररा की जिंदगी की तरह करते है नहीं हमें ये बिलकुल नहीं करना ऑथर कहतये है की सबसे पहले हमें तय करना होगा की हमें क्या करना है फिर दिन की सुरवात करनी है नहीं तू हम दिन भर कन्फुज़ ही रहेंगे किल्यरिटी पर ध्यान देना होगा अगर आप एक बार फोकस हो जाएंगे की हमें क्या करना है तो आप उसी काम को बैहतरीन तरकीये से कर पाओगे !

ऑथर ने इसको 7 पार्ट में बांटा है — step by step में आपको एक्सप्लेन करता हु !

step1 * decide exactly what do want -आपको decide करना होगा की आप आखिर चाहते क्या हो आप अपने जीवन सबसे इम्पोर्टेन्ट काम क्या है आपके लिए चाहये वो किसी भी एक्सपेक्ट में क्यू न हो वो देपेंद आप आप पर करता है फाइनेंसियल गोल्स है या लव ट्रैंगल या एक बड़ा बिज़नेस या एक अच्छा घर वो कुछ भी हो सकता है !

step2 * think on paper – दोस्तों आपको पता होगा की दुनिया में जितने भी बड़े बड़े लोग है वो टोटल अभी की आबादी के हिसाब से सिर्फ 3 %
ही लोग है और ये आपको जानकार आश्चर्य होगा की सारे लोग on पेपर लिखतये है वो कोई भी इम्पोर्टेन्ट बातए अपनी नोट पैड पर लिखतये है और उसको फॉलो करते है! जब उनसे यह पूछा गया आप लोग ये साड़ी बातए क्यू नोट करते हो तो उन सभी का एक है जवाब था की ऐसा करने से उनको वह पर्टिकुलर काम करने में आसानी होती है और लगभग 85 % वर्क वो पूरा कर लेते है एक छोटी सी हैबिट से दोस्तों
एक रिसर्च में पाया गया है की हमारा ब्रेन नै चीजों को स्टोर करने से ज्यादा नई नई आईडिया को क्रिएट करने में ज्यादा एक्टिव होता है बजाये bhot सारा इनफार्मेशन को इकठा करने के !


step3 Make the deadlines line – अपने सारे गोल्स को ख़तम करने के लिए सबसे जरुरी है एक डेडलाइन होना जरुरी है ! क्यू की एक तो यह हमरे दिमाग में एक केमिकल रिलीज़ करता है काम को आगये प्रोसेसे करने के लिए और डेडिकेटेड होता है जिसे से हम फोकस हो जाताये है !


step4 – Make A list – अपने गोल्स को पूरा करने के लिए आपको जितने भी काम करने है उसकी लिस्ट त्यार होना चाइए !
step5 – organize the list Make the plan – आपके दुवारा लिखये गए सारे प्लान को एक बार अछए से अनैलेसिस करो और सोचो की हमरे लिए सबसे जरुरी काम क्या है पहले उस पर धयान देकर उसको ख़तम करो !


step6 – Take action on your plan – इमीडेट उस पर आप काम करना सुरु करे क्यू की एन्ड थे एन्ड ये एक्शन ही आपको रिज़ल्ट देंगे ! गा


step7 – Resolve your self to do things everyday – हर दिन वही काम करो जो आपको आपके गोल्स के नज़दीक ले जाये और गोल्स के साथ जुड़ा हुवा हो एक काम तो आप ऐसा करो ही जो आपके गोल्स को पूरा करे !

Plan 2 – Plan every day in advance –
( 6p फार्मूला ) –
(1) p -PROPER
(2) p -PRIOR
(3) p -PLANNING
(4) p -PREVENTS
(5) p -POOR
(6) p – PERFORMANCE

-कई बार हामरे पास प्लान नहीं होने की वजह से हमें कंफ्यूज कर देता है और काम ना करने का बहोत सारा रिसन देना लगता है की अब तो यह काम नहीं करसकते छोड़ो इसको येह आप नहीं बल्कि हमरा माइंड भी सोच लेता है तो सोचो दोस्तों यह कितना जरुरी है हामरे किसी काम को भी करने के लिए इसलिए ऑथर कहते है की किसी भी चीज़ का प्लान के जरिये आप काम करो जैसे वो बता रहए है अपने बुक में !

  • हमें एक्शन लेने होंगे में इसको और अछए से इलबरोटे करता हु इसे में 4 लिस्ट में –
    EXAMPLE –
    NOTE – मास्टर लिस्ट बनाओ – इस लिस्ट में आपको त्यार करना है जो आपके लिए सबसे जरुरी है मतलब बहोत जरुरी !
  • 1आपको अपने लाइफ में क्या करना है !
  • 2कया आपको अपनी एक कंपनी बनानी है !
  • 3आपको एक आलीशान घर खरीदना है !
  • 4एक अरब पति बनना है

-ईनमसे से कुछ भी हो सकता है दोस्तों वो लिस्ट आप अपने हिसाब से बना सक्तये हो !

                                        1मोन्थली लिस्ट बनाओ -

इसमें आप कुछ ऐसा प्लान करो जो की आपको आपके टारगेट की और धीरे धीरे बढ़ाये !


2वीकली लिस्ट –
इसमें आप वो करोगे जिसमे मोन्थली लिस्ट के काम धीरे धीरे टुकड़ो में ख़तम करेंगे

3डेली लिस्ट –
ये आखरी लिस्ट जो बहोत इम्पोर्टेन्ट है इसमें आपको सारे काम को एडवांस में करना है जो की आपको काम करने में आसानी होगी जैसे अगर वो काम कल करना है तो उसको आज ही रात को त्यार कर;ले एडवांस में !
इसी तरह आपको सारे लिस्ट त्यार करके रखना होगा दोस्तों जिस से आपको मदद मिलेगी अपने वो सारे गोल्स को कम्प्लीट करने में और आप बड़े आसानी से ये साड़ी चीज़े कर सक्तये हो मेरे प्यारे दोस्तों !

ऑथर बताते है की कई लोगो पे उन्होंने अमेरिका में इस चीज़ पर रिसर्च किया था और और इसका रिजल्ट देखा की ये बिलकुल पर्फेक्ट्ली वर्क करता है तो दोस्तों आप भी इस फार्मूला को अप्लाई कर सकते हो और अपने लाइफ में त्रिमेंडस चेंज देखोगे अगर आपको अपने लाइफ में कुछ करना है तो आपको जरूर से यह सारे स्टेप फॉलो करने चाइये !

                                         प्रिंसिपल NO 3 

ABCD टेक्निक एक सिंपल और प्रोवेन टेक्निक है –
A टेक्निक
में हम वो काम करेंगे जो की हामरे लिए बहोत इम्पोर्टेन्ट है और अगर इस काम को हम नहींकरते है तो हमें काफी मुसबित का सामना करना पद सकता है तो जरुरी यह की पहले वो निपटा कर दूसरे प्लान पर फोकस किया जाये !
B टेक्निक
इस टेक्निक में हम वो सरे काम को प्रिऑरिटी देंगे जो हामरे लिए बहुत ही जरुरी है जिस से हमें कुछ नुकसान होसकता है !
C टेक्निक
इस टेक्निक में हम अपने जरुरी काम को िमोर्टैन्स में रखेंगे जिसे न करने से हमारा कुछ ज्यादा नुकसान नहीं हो सकता है ये सारे काम दोस्तों आप पर निर्भर करता है क्यू की हर किस का अपना अपना इम्पोर्टेंस होता है वो अपने हिसाब से आप से कर सकते हो जैसे की मेने आपको आगये ही बतया है !
D टेक्निक
ये टेक्निक आखरी और है जो न भी करो तो कुछ होगा नहीं मतलब यह मेरा की आप इसमें ऐसे कामो का लिस्ट दाल सकते हो जो बहोत जरुरी नहीं है अगर आप नहीं भी करते है तो उस आप को कोई नुकसान नहीं होगा !

ऑथर ने इसलिए ये सारे लिस्ट त्यार करने को कहा है जिस से आपको काफी मदद मिलेगा
आप जिस तरह सारी लिस्ट त्यार किये हो अपने इम्पोर्टेन्ट के हिसाब से खत्म भी उसी तरह करना होगा मतलब A लिस्ट वाला काम आपको पहले ही निपटना है जैसे मेने आपको सरे पॉइंट और प्लान ABCD करके बातये है A ग्रुप का काम आपको मॉर्निंग में ही खतम करने है


इक जिन्दा मेंढक खा कर जैसे की ऑथर समझा रहए है वो पहला काम ख़तम करो और पुरे दिन की बड़े आराम से रहो SAME ऐसे ही सारे वर्क आपको कम्प्लीट करने है !

दोस्तों मेने पर्सनली इस रूल को फॉलो किया है और बहोत कुछ हासिल किया है !


ये सारी बातये में DALE CARNEGIE की बुक बात EAT THAT FROG से बताई है !


तो दोस्तों आपके काम की चीज़े जो आपकी ज़िंदगी बदल देगा में लाता रहता हु तो जुड़े रहए मेरे साथ !
जय हिन्द –

हाई दोस्तों ,
मनचाही चीज़े हासिल करो एक टेक्निक से!

How to make friends and influence people ! दोस्तों कैसे हो आप लोग आशा करता हु बिलकुल अच्छे होंगे ! आज हम बात करने वाले है किसी को भी कैसे अट्रैक्ट करे ! और आप कैसे पावरफुल और एक अच्छा इन्फ़्लून्केर बने ! कई बार कई लोग अच्छा और एक पावरफुल इन्फुलेंसर बनने की इक्छा रखतये है लेकिन उनको सही बाते नहीं पता होती है की आखिर वो कैसे करे यह सब ! सही टेक्निक के आभाव में कई लोग यह सोचते है की यह सब उनके बस की बात नहीं है बड़े बड़े इंफ्लुंसर जो है वो पदासी ही है उनके अंदर ये बचपन से है इसलिए वो आज बड़े है किसमत के धनि है जो बिलकुल गलत है !
एक रिसर्च से पता चला है कोई भी इंसान कुछ भी कर सकता है अगर वो सच में करना चाहता हो तो ! जिस से आपका मान सम्मान और भी बढ़जाएगा समाज में लोग आपकी बहोत रस्पेक्ट करने लगेंगे !

तो चलिए सुरु करते है –
सबसे पहला और बहोत जरुरी बात – हमेशा बहोत काम बोलिये ज्यादा बोलना कई बार सही साबित नहीं होता है मेने देखा है दोस्तों कई लोग बेवजह हद से ज्यादा बोलते है ! अगर उनको सही नॉलेज न भी हो तो उनको तो बस बोलना है ! तो ऐसे लोगो से सारे इंसान कटनेलगते है कई लोगो की आदत होती है बस में में में , करने की जिस से वह सामने वाले को निचा दिखाता है और अनकम्फर्ट भी कर देता है जो की बिलकुल ही गलत तरीका होता है किसी से बात करने का
कई लोग बिना पूछे ही अपना advise देने लगते है ऐसे लोगो की क़द्र ख़तम हो जाती है जिस वजह से लोग इनकी न तो इज्जत करते है और न ही उनकी बातो को गौर से सुनते है सच पूछो तो तो उनका कोई वैल्यू नहीं देता दोस्तों !
आप को यह बिलकुल नहीं करना है दोस्तों

आपने देखा होगा कई लोग बहोत कम बोलते है पर जब वह बोलते है तो सारे  लोग उनको बड़े ध्यान से सुनते भी है और उनका रिस्पेक्ट भी देते है कई बार ये सही नहीं होसकता मेरे दोस्तों लेकिन ये 98 % लोगो के साथ लागू होता है जो की बेहद काम बोलते है ये आंकड़ा एक रिसर्च से सामने आया है !

दोस्तों कम बोलने के कई फायदे भी है !
1 जब आप काम बोलते है तो आप सामने वाले इंसान को ज्यादा बोलने पर मजबूर करदेते है जिस से कई फायदे है अगर आपका ऑब्जरवेशन पावर अच्छा है तो आप उस इंसान को बहोत ही आसानी से समझ सकते है की वह क्या चाहता है और उसके मन में क्या चल रहा है और भी कई सारे बातये !

2 आप जब कभी भी कुछ बोलेंगे लोग आपकी बातो को बड़े इनरेस्टिंग से सुनेंगे और आपका वैल्यू के साथ साथ रिस्पेक्ट भी करेंगे !

3  कम बोलना आपको हमेसा  आपको गलत और मूर्खता वाली बातो को बोलना से अहमेसा दूर रखेगा जो की बहोत ही जरुरी है ! और बहोत अछि बात है
आप ने अगर गौर किया हो तो देखा होगा की ज्यादा सक्सेस पर्सन बहोत काम बोलते है और जरूरत के अनुसार ही बोलते है
जरूरत भर बोलना उस सक्सेसफुल पर्सन को और भी प्रभावी बना देता है जिस से उस वैयक्ति की वैल्यू बाद जाती है दुसरो की नज़र में !

4 सबसे महत्वपूर्ण बात जिस काम को दुसरो से पैसे देकर आप करा सकते हो दोस्तों तो आपको उसके स्किल और नॉलेज का यूज़ बिलकुल पैसे देकर करा सकते है जिससे आप अपना बेहद कीमती समय बचा सकते है then किसी और प्रोजेक्ट पर आप काम कर सकते और अपनी अर्निंग कई गुना बड़ा सकते है!

में एक बहोत अच्छा एक्साम्पल आपको दूंगा ! थॉमस एडिसन का
जिनोह्णे उस वक़्त निकलोस टेस्ला को एक प्रोजेक्ट दिया था और कहा था अगर तुमने इस डयनमो को सही करदेते हो तो मए तुम्हे  1  लाख डॉलर दूंगा तो उस वक़्त निकलोस टेस्ला इस बात पर त्यार होगया और उसने उस प्रोजेक्ट को सही भी करदिया था जो आज के समय में जनरेटर बोलते है उसको !
दोस्तों निकोलस टेस्ला काफी बड़े साइंटिस्ट थे जिन्होंने अपने टाइम कई बड़े बड़े इनोवेशन किया था पर उन्हें किसी भी इनोवेशन का रॉयलटी नहीं मिल पाया जब उनकी मिर्तुयु हुवी तो गरीबी में हुवी है न आस्चर्य की बात!
थॉमस ediation जनता था की निकलोस टेस्ला उसके लिए बड़े काम का आदमी है तो बाद में उसने निकोलस टेस्ला को सैलरी पर रख लिया था ! जो की बहोत गलत था

Kishi Ko Bhi Attract Kese Kare ?

Attract kare kisi ko bhi !

सिर्फ 90  सेकंड में अपनी बातो से attract करे किसी को भी !
है दोस्तो कैसे हो आप लोग आशा करता हु की आपलोग बिलकुल मस्त होंगे !
आज हम बात करने वाल्ये है की क्या किसी को अत्त्रक्ट कर सक्तये है कुछ मिंटो में बात करके छाए वो लड़का हो या लड़की या फिर कोई डिप्लोमैट ही  क्यू न हो ! तो इसका आंसर  है बिलकुल वो भी चंद कुछ सेकण्ड्स में ! में ये सारी बातये एक बुक से बताऊंगा जो की लास्ट में उस बुक और ऑथर का नाम भी में बता दूंगा !
तो चलिए दोस्तों सुरु करते है !  

ऑथर बताते है की आज की समये में हमलोग किसी को टाइम नहीं देते इनफैक्ट खुद के लिए भी टाइम नहीं निकालते जबकि हमें पता है की इसके कितने दुष्परिणाम हो सक्तये है मेरे खाने का मतलब है प्रॉपर टाइम स्पेंट नहीं करते हम अपने फॅमिली के साथ और न ही अपनों के साथ बस पता नहीं हम खुद इतने बिजी रहतये है की हमें ही कुछ समझ नहीं आता की हम ये क्या कर रहे है जबकि देखा जाये तो हमरे पास पर्याप्त समय और बाकी और चीजों की सुविधा है बस जरुरत है तो पहचानएँ की चलिए इसको में और आसान तरीके  से  समझाता हु !

जब किसी के साथ पहेली बार मिलते है तो 90  सेकंड  मिलने की सबसे  ख़ास समय होता है! क्यू की यही वही टाइम है जब आप अपनी चाप उस पर छोड़ते है ! आप ने कई बार देखा होगा टीवी में ऐड aatye  हुवे  जी उनके पास मात्रा कुछ सेकण्ड्स ह होते है अपनी चाप छोड़ने का वो कुछ ऐसा कर जातये है उन कुछ सेकण्ड्स में की आपका ध्यान तो जाता  ही है आप उसको महीनो तक याद भी रख लेते है है ना दोस्तों य सोचने वाली बातये है ! ये ऐड सेम ही काम करते है अटेंशन ग्रैब करने का में आपक यही बताना चाट हु की सेम हमरे पास भी इसीतरह का ऑप्शन है ध्यान अटेंशन खींचने का !
अगर आप  चाहते हो की लोगो का दिल जितना या एक स्ट्रांग कनेक्शन बिल्डप करना तो आज में इस कंटेंट में यही सारे तरीके शेयर करूँगा जिस से आपको काफी मदद मिलेगा !
में बताऊंगा आपको कैसे – ज्यादा तर लोग जब पहेली बार मिलते है किसी से पहेली बार तो अछए तरीके से बात नहीं कर पाट्ये है या तो वो ओकवर्ड बिहैव करने लगते है या तो फिर वो चुप हो जाते है अकसर एहि होताहै ! और फिर क्या होता है वो इंसान आप से बात करने में फिर कतराने लगता है
में इसको तीन पार्ट में बाटूंगा !
1  Meeting
2 Rapport
3 Communicate
किसी भी इंसान से जब आप बात करते हो तो एक ९० सेकंड का राप्पोर्ट का एक गैप आता है अब राप्पोर्ट क्या होता है में ये आपको आगये वक्सप्लेन करूँगा !
ये सारे स्टेप बहोत जरुरी है इसलिए ये तीनो स्टेप में भोत आचाये से एक्सप्लेन करूँगा  
1MEETING – किसी से मिलने के 3  या 4  सेकंड में एक अच्छा इम्प्रेशन देदेते हो तो उस इंसान को आप एक सेफ और TRUSTWORTHY लगोगे !
में कुछ सिंपल टिप्स आपको बताऊंगा जिसे आप फॉलो करे के आप भी ऐसा कर सकते हो
1BE  OPEN – मतलब आप अपने बॉडी लेंग्वेज और ऐटिटूड को सही रखना जैसे अगर आप अपने हाँथ या पैर को क्लोज करके बात करते हो तो वह सही नहीं माना जाता है ! उसी वक़्त अगर आप अपने हाँथ और पैर यानी अपने आप को बिलकुल कॉन्फिडेंस के साथ रखतये हो तो वो यह तरीका सही है !
2EYE CONTACT – यह कितना पावरफुल हो सकता है ड़सोतो आप बिस्वास नहीं करोगे ये बहोत पावर फूल टेक्निक है जब किसी से मिलतइ हो तो EYE कांटेक्ट  मेन्टेन करना बहोत जरुरी है ! बात करते टाइम अगर आप सही से EYE कांटेक्ट अगर काम कर रहए हो तो इसका मतलब है आप झूट बोल रहए हो या नर्वस हो तो ये सही नहीं होता है ! लेकिन यह भी सही नहीं होता है की आप किसी से EYE  कांटेक्ट भी अगर कर रहए हो तो ऐसा बिलकुल मत करना की लगातार आप उसको घर रहए हो ये देपेंद कफरता है की आप सिचवूवेसन के हिसाब से ऑय कांटेक्ट करो ! और ऐसे भी मत करो की कही आप देखो ही न
3BEAM – मतलब एक जेनुइन स्माइल नाकि एक फेक स्माइल जो आपको ऑकवर्ड फील करादे यह बहोत जरुरी है एक हलकी स्माइल देनी चाहिए आपको !
4GREETING – बीम के बाद आपको एक अछि कन्वर्सेसन के लिए एक पॉजिटिव ग्रीटिंग के साथ बात स्टार्ट करनी चाहिए जैसे नमस्ते या
 है हेलो जो भी आपको अचछा लगता हो वो आप पर डिपेंड करता है  ! जितने अछए से आप INTRODUCE करोगे तो वो परसों भी उतने अछए से आपको INTRODUCE  करेगा ! इन शार्ट आपको अपने बारे में थोड़ा इंट्रस्टिंग हो कर बताना है THEN जैसे एक एक्साम्प्ले में आपको देता हु !
हेलो में गौरव हु में एक ब्लॉगर और YOUTUBER हु ! तो दूसरा पर्सन का भी लगभग ऐसा ही जवाब आएगा HI में सुरेश हु में एक सेल्स MEN हु
मेरी बातो को आप समझ रहए हो न तो अगर उसी इंट्रोडकशन को सही से और इंट्रेस्टिंग बना कर दोगे तो वो पर्सन जो आप से मिल रहा होर बातये कर रहा है वो भी बड़ा इंट्रेस्टिंग होकर आप से बातये करेगा !
5LEAN – बात करते टाइम थोड़ा झुकना यह भी एक तरीका है बात करने का क्यू की जब आप किसी से झुक बात करे हो तो ज्यादा सही होता है और यह सबके सामने भी नहीं करना है वर्ण आप उस इंसान को NEEDY या लालची लगोगे ! सोच समझ कर करो

एस्टब्लिशिंग RAPPORT — यह पार्ट जैसे की मेने आपको बतया था की आगये बताऊंगा यह पार्ट बहोत इम्पोर्टेन्ट है जैसे की आपको पता ही है हम इंसान दिमाग से KAM  दिल से ज्यादा सोचतए है आपको अगर एक अलग लेवल पर ही रिलेशन बनान है तो उसके लिए मेन्टल और इमोशन लेवल पर समझना होगा ! जिसे से आपको सभी लोग पसंद करने लगेंगे
RAPORAT का यही काम है एक इमोशनल और मेंटली स्ट्रॉन्ग रिलेशन बनाने के लिए चलिए कुछ पार्ट्स में आपको समझाता हु की कैसे एक बेस्ट रपोर्रेट क्रिएटकिया जाता है !
1  ATTITUDE  – जब आप कभी अपने किसी नज़दीकी लोगो से बात करते है तभी आपको रिलाइस होता है की वो जिससे आप बात कर रहए हो वो किसी वजह से नाराज़ है या उदाश है तो आप पूछतये हो क्या हुवा तो झूट का बोलता अर्र्रे कुछ नहीं । लेकिन आपको यह अहसास  हो जाता है की यह झूट बोल रहा है ! लेकिन आपको कभी अहसा हुवा है की आपको कैसे पता चल जाता है जी है बिलकुल सही
ऐटिटूड से -क्यू की हमारा जो ऐटिटूड है वो डायरेक्टली इम्पैक्ट करता है हमरे दिमाग से जो की पूरी तरह से कनेक्टेड है हमरे बॉडी से !
इसलिए होगा क्या अगर आपको ऐटिटूड ही ऐसा है तो आपको लोगो से बात नहीं करने देगा इसलिए TRY करो की आप अपने आप को जितना कूल रख रहोगे वो ज्यादा बेस्ट होगा ! आप कोसिस करो की बोरड,एंगर ,RUDE , ऐसी नेगेटिव वर्ड से आप कोसो दूर रहो !
इसके वझाये वार्म ,सुप्पोर्टीवे , रिलेक्स ,इस पोस्टिव  ऐटिटूड वर्ड के साथ रहो और इसी तरह लोगो से मिलो !

आर्ट ऑफ़ सिंकरोईजसेन – इसका मतलब है की आप जैसे हो वैसे लोगो से ही आपका संपर्क ज्यादा होगा जैसे अगर आप क्रिकेट ज्यादा पसंद करते हो तो आपको 90 % लोग वैसे ही मिलेंगे ! सिमलर टाइप के लोग हम ज्यादा पसंद करते है क्यू की हम उनके साथ ज्यादा कम्फर्ट फील करते है ! हमेसा तो नहीं मोस्ट ऑफ़ पीपल को हम पसंद नहीं करते है जो हामरे से सिमलर नहीं है !
चलिए कुछ और आसानी से इसको समझत्ये है !
आपको और किन किन बातो पर ध्या देना है
1VISUAL – 55 % जो हमारा कम्युनिकेशन होता है वो हमारा विसुअल से ही होता है यानी हमारा बॉडी लेंग्वेज से !
2VOCAL – 38 % कम्युनिकेशन हामरे वौइस् टोन से होता है !
3VERBAL – 7 % ही कम्युनसेशन डिपेंड करता है हामरे वर्ड्स पर यानी जो हम बात करते है !
तो विसुअल से यह पता चलता है की सबसे ज्यादा जरुरी हमारा बॉडी लैंग्वेज होता है जिस सिंक करना बहोत जरुरी है !
वोकल सिंक करना भी बहोत जरुरी है उसी टोन में जिस टोन में आप से वो इंसान मिल रहा है ! कॉन्फिडेंस के साथ !
वर्बल ज्यादा इम्पोर्टेन्ट तो नहीं है लेकिन इसको भी मेन्टेन करना जरुरी है यानी आपके पास सिंपल वर्ड का जहखीरा होना चाहिए उस इंसान से बात करते समय बिकुल इजी वे में वर्ड को उसे करना !
अगर आप चाहत्ये हो की आप से भी लोग प्यार से मिले और बीलभ करे इमोशनल attach हो आप से तो आपको भी तो आपको कोंगरिटीरखो यानी आपके वाईस में कॉंफिडेंट तो है पर बॉडी लेंग्वेज ढीला है तो उस से आपका कुछ नहीं होगा यानी बराबर आपको बॉडी लेंग्वेज और वॉइस वर्बल इन सारे चीजों पर सही से ध्यान देना होगा जैसे की मेने आपको बतया है !
दोस्तों अगर ये काम का लगा तो में इस तरह का ही कंटेंट लता रहूँगा तो प्लस हमसे जुड़िये और शेयर करिये

जय हिन्द –

Mahatma Gandhi!

Mahatma Gandhi Story

हाय दोस्तों,

आज हम बात करेंगे महात्मा गांधी के बारे में !

एक ऐसी कहानी जो बहोत काम लोग ही जानते होंगे ! उनको एक बार South Africa में ट्रैन से गोरो ने English Man ने Train से इसलिए सिर्फ धक्का दिया था क्यू की साउथ अफ्रीका में काळा गोरो का बेध था ! ये गाँधी जी की Apartheid यानी रंग बेध से बहोत पहली और कड़वी मुलाकात थी ! दोस्तों आपको बता दू उसी वक़्त से उनका जीवन पलट गया एक और घटना है सायेद कुछ लोग जानते होंगे और कुछ लोग नहीं जानते होंगे एक बार जब वो साउथ अफ्रीका के ट्रैन में कही सफर कर रहे थे उनके साथ एक घटना घटी वो घटना यह था की पहले साउथ अफ्रीका में अंग्रज़ो का राज था जो की उस वक़्त लगभग पूरी दुनिया में उनका ही राज हुवा करता था ! उस वक़्त वंहा एक क़ानून हुवा करता था की कोई भी ट्रैन अगर स्टेशन से गुजरेगी तो रुकेगी सिर्फ अंग्रेजो के लिए एहि हुवा हामरे गांधी जी अंग्रेज तो थे नहीं इसलिए ट्रैन रुकी नहीं तो उनको स्टेशन पर गाडी धीरे धीरे गुजर रही थी ! तो उनको मजबूरन गाडी दौड़ कर पकड़ना पड़ा तो हुवा ये की गाडी दौड़ के पकड़ने के चक्कर में एक जूता उनका फिसल गया और एक जूता उनके पैर में ही रह गया तो उन्होंने फ़ौरन वो जूता भी उतारकर फेंक दिए तो उनके साथ खड़ा एक वयक्ति बड़े कौतहुल से उनके तरफ देखते हुवे बोले तुमने अपना दूसरा जूता भी क्यू फेंक दिया तो उन्होंने बड़े प्यार से उस सज्जन को जवाब दिया यह एक जूता तो मेरे अब किसी काम का नहीं इसलिए मेने फेंक दिया ! अगर यह जूता जिसको भी मिलेगए तो एक जोड़ी मिलेंगे येह जूता उनके पहनने के काम आजएंगे इसलिए मेने ऐसा किया ! यह समय अंग्रेजो ने अत्याचार तो बिलकुल किया था ट्रैन सिर्फ गोर अंग्रेजो के लिए ही रूकती थी अगर अंग्रेजो को नहीं चढ़ना होता तो ट्रैन उस स्टेशन पर धीरे हो जाती और आपको दौड़ कर ट्रैन पकड़ना पड़ता छाए वह कोई भी क्यू न जैसे बड़ा हो या पेट से औरत बच्चा कोई भी ! यह वह वक़्त था जब गाँधी जी महात्मा बनने के और अग्रसर थे दोस्तों साउथ अफ्रीका में जो भी उनके साथ हुवा था वो बिलकुल सही नहीं था लेकिन गांधी को येह सब झकझोर कर रख दिया था उन्होंने इन सब चीजों का सामना किया और बेहद ही प्यार से और निस्वार्थ होकर अगर उस जगह कोई और होता तो सायेद वो यह नहीं कर सकता था ! दोस्तों यह कभी हम नहीं सोचते की दुसरो की मदद कैसे करे या उनकी तकलीफ कैसे काम करे आज हर कोई सिर्फ अपने लिए सोचता है सिर्फ अपने लिए कोई किसी से मतलब नहीं रखना चाहता है अगर कोई मतलब रखता भी है तो सिर्फ अपने फायदे के लिए सोचो दोस्तों अगर गाँधी जी ने भी अगर ऐसा किया होता तो सायेद उनको कोई नहीं जनता और ये बापू की उपदि भी उनको नहीं मिलती दोस्तों अमेरिका में एक सर्वे हुवा था ! जो की 1992 के टाइम के सबसे बड़ी कम्पनी में हुवा था वो सर्वे यह था की कुछ कम्पनी महज कुछ सालो में इतनी बड़ी होगी थी की कई छोटे छोटे देशो की जीडीपी से व् ज्यादा उनकी टर्न ओवर था ! जब वह सर्वे हुवा तो एक कॉमन चीज सामने निकल कर आया की जितनी भी बड़ी से बड़ी कंपनी थी उन्होंने लोगो की प्रॉब्लम सॉल्व किया है तो दोस्तों यही सेम चिज्ये कर के हम अपने जीवन में भी भोत बड़े बन सकते है दुसरो की प्रॉब्लम को सॉल्व करके उनकी लाइफ में नई रोशनी लाके !

दोस्तों में इसतरह की ही नोलजेबल कंटेंट आपके लिए लेकर आता रहूँगा जिससे aapki मदद हो सके! तो दोस्तों जाते जाते यही बोलूंगा अपने करीबी और प्रियजनों के साथ शेयर करे! जय हिन्द !

Mahatma Gandhi