लखनऊ वासियों के लिए जरूरी जानकारी फरवरी में बहुत सारी Train करने होंगे रद्द !

लखनऊ वासियों के लिए जरूरी जानकारी फरवरी में बहुत सारी Train करने होंगे रद्द !

जिस वजह से यात्रियों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ेगा ट्रेनें रद्द हो रही हैं।

हम बताएंगे आपको कि कौन सी ट्रेन है कहां पर होंग रद्द।

कोहरा की वजह से ट्रेनें रद्द होती जा रही हैं क्योंकि इस घने कोहरे में ट्रेन चलाना यह खतरनाक साबित हो सकता है। कुछ ट्रेन 31 जनवरी तक रद्द किया  गया था।

आपको बता दू यह साड़ी जानकारी रेलवे द्वारा लिया गया है।

रेलवे बोर्ड के नए आदेश के दौरान ट्रेन 02571 गोरखपुर आनंद विहार एक्सप्रेस स्पेशल स्पेशल 3 से 28 फरवरी तक बुधवार रविवार निरस्त रहेंगी।

इसी तरह की ट्रेन वापसी में 02572  आनंद विहार गोरखपुर एक्सप्रेस स्पेशल 4 फरवरी से 1 मार्च तक सोमवार को गुरुवार को निरस्त रहेंगी।  वही 02534 नई दिल्ली वैशाली सुपरफ़ास्ट स्पेशल दो 23 फरवरी तक मंगलवार को निरस्त रहेंगी।

जबकि 02554 नई दिल्ली सहरसा वैशाली सुपरफास्ट स्पेशल 3 से 24 फरवरी तक प्रत्येक बुधवार को नहीं चलेगी जबकि ट्रेन 02779 आगरा फोर्ट लखनऊ जंक्शन इंटरसिटी एक्सप्रेस स्पेशल 6 से 28 फरवरी तक प्रत्येक शनिवार को और रविवार को संचालित नहीं की जाएगी यही ट्रेन 02180 लखनऊ जंक्शन आगरा फोर्ट इंटरसिटी बी 6 से 28 फरवरी तक शनिवार एवं रविवार को निरस्त रहेगी। 

 

 रेलवे ट्रेन 01803 झांसी लखनऊ इंटरसिटी और 01804  लखनऊ जंक्शन झांसी इंटरसिटी स्पेशल को 6 से 28 फरवरी तक प्रत्येक शनिवार रविवार को निरस्त करेगा जबकि 02557 मुजफ्फरपुर आनंद विहार सप्त क्रांति एक्सप्रेस स्पेशल 3 से 24 फरवरी तक बुधवार को और वापसी में 0258 आनंद विहार मुजफ्फरपुर  सप्त क्रांति एक्सप्रेस  स्पेशल से 4 से 25 फरवरी तक करेगी यह जानकारी रेलवे द्वारा दी गई है। 

लखनऊ वासियों के लिए एक बड़ा अपडेट लखनऊ में आज से रास्ते हो जायेंगे बंद।

लखनऊ वासियों के लिए एक बड़ा अपडेट लखनऊ में आज से रास्ते हो जायेंगे बंद।

कल 26 जनवरी है इस 26 जनवरी के होने वाले प्रोग्राम में कई तरह की झांकियां निकलेंगे और कई तरह की रंगारंग कार्यक्रम होंगे जिसे मध्य नजर रखते हुए आज सोमवार दोपहर के बाद से आम जनता की वाहनों को निगरानी तथा रोक लगा दी जाएगी।

जिसके लिए चौराहे पर रॉयल होटल चौराहे और जीपीओ पार्क के पास बैरिकेडिंग लगाई जा रही है। 

वही त्रिलोकीनाथ रोड से भी वाहन विधानसभा मार्ग पर नहीं जा सकेंगे डीसीपी ट्रैफिक द्वारा या जानकारी हमारी टीम के साथ साझा की गई है। जिसे हम लोग उचित समय पर लखनऊ वासियों को अवगत करा रहे हैं।

जिसे उन्हें खासा दिक्कत ना हो पाए कल 26 जनवरी के अंतर्गत बहुत सारे रास्ते लखनऊ में बंद रहेंगे जाने कौन सा रास्ता खुला रहेगा कौन सा रहेगा बंद। 

गणतंत्र दिवस के दौरान मंगलवार सुबह से यातायात व्यवस्था बिल्कुल आम हो जाएगी जैसे पहले हुआ करती थी पैरेड  सुबह बाल विद्या मंदिर से शुरू होकर केडी दक्षा स्टेडियम में संपन्न होगा।

इस कार्यक्रम के दौरान परेड मार्ग पर सामान्य वालों का आवागमन बिल्कुल प्रतिबंधित रहेगा वाहन चालकों को वैकल्पिक मार्ग से गुजर ना होगा।

Lucknow police
Lucknow police

यह जानकारी डीसीपी ट्रैफिक ने हमारी टीम से साझा की है।

नावेल्टी लालबाग चौराहा के दौरान वाहनों के आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी केवल कार पास वाले वाहन चालक वाहनों को पार करने के लिए जा सकेंगे।

बाल विद्या मंदिर चारबाग से हजरतगंज चौराहे तक की व्यवस्था रहेगी इधर नहीं जा सकेंगे।

आलमबाग औरैया से आने वाले वाहन की और डीएवी कॉलेज से मंडी की और का के तिराहे से चारबाग राणा प्रताप चौराहे की ओर

एवं कुंवर जगदीश चौराहे चौराहे की प्रताप चौराहे से छितवारापुर चौकी के किसी एवं चारबाग की और हीवेट रोड चौराहे से राणा प्रताप चौराहे की और

Lucknow police
Lucknow police

उदय गंज हर संचाई भवन से एनेक्सी आने वाली वाहनों की विधान भवन की ओर सदर और ब्रिज से आने वाले वाहन हुसैनगंज की राशि केसरबाग की ओर

बंदरिया बाग चौराहे से वाहन हजरतगंज की ओर कैसरबाग चौराहे से हुसैनगंज चौराहा अथवा बाबू भवन की ओर

नोट

सिर्फ कार पास वाले वाहनों को सचिवालय विधानसभा के पीछे वाले द्वार से सचिवालय के अंदर प्रवेश की अनुमति होगी कार पास वाले ही वाहन बंदरिया बाग से विधान भवन के पीछे से गेट नंबर 7 के अंदर जा सकेंगे।

 

लखनऊ के क्षेत्र जानकीपुरम में लग गई आग इस आग में कुल परिवार के लोग।

लखनऊ के क्षेत्र जानकीपुरम में लग गई आग इस आग में कुल परिवार के लोग। 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आजकल कुछ ना कुछ बड़ी घटना घटती रहती है यूं तो लखनऊ सुरक्षित है लेकिन हर मामले में भी सुरक्षित नहीं है पिछले कुछ दिन पहले ही कुछ लोग जिंदा जलने के बाद एक बड़ी घटना होते हुए 2 बच्चों की जान चली गई थी आग में इनकी मौत आग में झुलस कर होने की वजह से पूरा प्रशासन सकते में था कि अचानक से आज फिर एक बड़ी घटना घट गई।

जानकीपुरम मकान में आज आग लगने से उनके परिवार तो बच गए लेकिन पूरा घर जलकर खाक हो गया शुक्र की बात यह है कि दमकल कर्मियों ने मौके पर आकर इन परिवारों को बचाया तथा इनके घर में लगी आग को भी शांत करने में काफी मदद की आसपास के क्षेत्र में भी आग की असर देखने को मिली आग की लपट इतनी तेज थी कि दूर से ही या देखा जा सकता था कि जानकीपुरम में एक आग लगी है इस आग में किसी की जान जोखिम मैं तो नहीं थी लेकिन जिस परिवार का घर जला वह तो एक तरह से समझिए मर ही गया उसके घर में कुछ  नहीं बचा और पूरा घर जल कर खाक खाक हो गया।

 

वैसे पड़ोसियों ने उनकी मदद की गुहार लगाई है। 

और हमारी बातचीत के दौरान उस परिवार के लोग डीएम से तथा सीएम से अनुरोध कर रहे हैं कि उन्हें अभी आर्थिक मदद दिया जाए जिस वजह से उनको कुछ राहत की सांस मिले अन्यथा ये परिवार पूरा सड़क पर आ चुका है।

यूं तो लखनऊ में क्या पूरे देश में विश्व भर के लोग परेशान हैं कोरोना के बाद से लोगों की नौकरियां जा रही हैं तथा आए दिन बुरी खबर ही मिलती है। आर्थिक स्थिति पहले से भी ज्यादा खराब होते हुए नागरिकों की आय में कमी पाई गई है।  तथा इसके बावजूद इस तरह की घटना बिल्कुल ही सड़क पर लाने के योग्य है।

आग जानकीपुरम सेक्टर डी का के मकान में लग गई थी यहां के निवासी रमेश दीक्षित के घर में परिवार रविवार सुबह पूजा के कमरे में दीपक से आग लग गई  परिवार जनों में पानी फेंककर आग पर काबू पाने का प्रयास किया पर सफलता उनके हाथ ना लगी।

 हमारे टीम ने अनुरोध किया है कि इस तरह के भीषण आग से बचने के लिए जरूरी चीजों का उपाय करें तथा सजग रहें। 

 लखनऊ  वासियों के लिए  खुशख़बरी सेवा योजना विभाग का एक बड़ा फैसला। 

 लखनऊ  वासियों के लिए  खुशख़बरी सेवा योजना विभाग का एक बड़ा फैसला। 

 

लखनऊ में सेवा योजना विभाग  एक सराहनीय कदम उठाते हुए लखनऊ के अनुसूचित जाति एवं जनजातियों को एक बड़ा लाभ देते हुए सुनिश्चित किया है कि जितने भी पिछड़े वर्ग के स्टूडेंट हैं जोकि अपने माली हालत था आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के वजह से पढ़ाई बीच में रोक दी है। 

 

या पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं अपने पढ़ाई के खर्च को नहीं बियर कर पा रहे हैं उन जैसे लोगों के लिए सेवा योजना विभाग ने एक बेहतरीन कदम बढ़ाते हुए सराहनीय रुप से इन लोगों के लिए निशुल्क पढ़ाई करने की उत्तम व्यवस्था कर दी है लाल बाग के क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय की ओर से संचालित में लगभग 60 से 100 विद्यार्थियों को लाभ पहुंचाया जाएगा। 

जिसमें वह डायरेक्टआकर अपनी अपनी विषय अनुसार कोचिंग ले पाएंगे इसमें अच्छी बात यह है।

कि जो हमारे अनुसूचित जाति के विद्यार्थी हैं जो बाहर जाकर तैयारी नहीं कर पा रहे जैसे किसी विशेष परीक्षा के लिए एसएससी एसएससी या फिर उच्च स्तर के अफसर क्लास की नौकरी के लिए वह बड़े-बड़े कोचिंग सेंटर में अपने माली हालत की वजह से पढ़ाई नहीं आगे जारी रख पाते हैं। 

 जिस कारण से सरकार ने यह कदम उठाते हुए इन सभी विद्यार्थियों को लाभ पहुंचाने को आदेश दिया है। 

और इन सभी विद्यार्थियों के इन सभी मूलभूत सुविधाओं को देखते हुए इन कोचिंग सेंटरों में ऐसे टीचर की बहाली की जाएगी तथा बहाली कर दी गई है। 

 

जो इन तरह के परीक्षार्थियों को सीधा लाभ पहुंचा पाएंगे जिसमें भाषा ज्ञान ज्ञान विषय साइंस मैथ्स तथा रिजनिंग के भी शिक्षक उपलब्ध होंगे जिससे यह विद्यार्थी निसंकोच होकर अपनी अपनी भाषा में तथा अपने शिक्षकों से बेहतर मापदंड के अनुसार अपनी अपनी तैयारियों में जुटेंगे और अपने मुकाम को हासिल करेंगे देखा जाए तो यह एक सराहनीय कदम है। 

सरकार की तरफ से सेवा योजना विभाग ने इस तरह की कदम उठाते हुए या देश को साबित कर दिया है। 

 शिक्षा की कितनी जरूरत है सभी विद्यार्थियों के लिए तथा ऐसे कदम हर एक जगह भी उठनी चाहिए जहां मध्यम परिवार के लोग तथा निम्न स्तर के  आय की वजह से आर्थिक कमी की वजह से लोग पढ़ नहीं पाते हैं।

उन्हें इस तरह की सुविधाएँ प्रदान की जाएगी तो उनके विद्यार्थी आगे चलकर नाम रोशन करेंगे। 

लखनऊ वासियों हो जाएं सावधान लखनऊ में घूम रहा है खतरनाक जंतु।

लखनऊ वासियों हो जाएं सावधान लखनऊ में घूम रहा है खतरनाक जंतु। 

आज का लखनऊ हो गया है खतरनाक घूम रहा है तेंदुआ जो लोगों की जान भी ले सकता है यह तेंदुआ काफी खतरनाक है यूं बता दे कि कुछ दिन पहले यह अफवाह फैली थी कि लखनऊ में तेंदुआ देखा जा रहा है।लेकिन यह अफवाह अब बिल्कुल ही सच है।

इसे अफवाह नहीं बोल सकते बंथरा क्षेत्र में दो तेंदुआ शिकार की तलाश में घूम रहे यहां राष्ट्रीय वनस्पति स्थान परिसर एनवीआरआई में दो तेंदुआ होने की जानकारी उजागर की गई है या काफी खतरनाक है क्योंकि यह जंगली जानवर है आए दिन लोगों पर या किसी भी जीव जंतु पर शिकार कर उन्हें खाने की प्रयास कर रहे हैं।

इस तेंदुए को वन विभाग ने ट्रैकिंग की व्यवस्था बनाते हुए ट्रैकिंग की की थी करीब 7 मीटर जमीन के हिस्से को साफ करने के बाद। 

उसे मिट्टी और बालू के जाल बनाई गई थी फ़साने के लिए एनबीआरआई परिसर में जहां जगह ट्रैकिंग की गई थी जिसमें दो जगह तेंदुआ का जाने का रास्ते में उसके पैर के निशान पाए गए यह देखते हुए वन विभाग के कर्मचारियों ने अन्य अलग-अलग जगहों पर इसको ट्रैकिंग किया और उन जगहों पर भी तेंदुआ के खतरनाक पंजे का निशान उपलब्ध हुआ।

इन सब चीजों को देखते हुए वन विभाग के कर्मचारियों ने लखनऊ सिटी में डेरा डाला हुआ है। 


कर्मचारियों के हिसाब से हिंदुओं को जल्द से जल्द खोज लिया जाएगा और उनको उचित जगह पर छोड़ दिया जाएगा वन विभाग के कर्मचारियों का कहना है.

कि जब तक ये मिल नहीं जाते तब तक सतर्कता बरतना ही सही रहेगा हमारी टीम से बातचीत के दौरान ट्रैकिंग टीम  में लगाए गए क्षेत्रीय वन अधिकारी अभिषेक के मुताबिक तेंदुए की लोकेशन का पता लगाया जा रहा है।

लोगों को उन्होंने साफ स्पष्ट बोला है कि अगर वह खेत जा रहे हैं या खेत खलियान कभी किसी काम से बस जा रहे हैं तो सतर्कता बरते हैं लाठी डंडा हाथ में रखे तथा टॉर्च भी साथ में रखें और हमेशा चौकन्ना रहे क्योंकि यह तेंदुआ जंगली हैं और कभी भी किधर से भी किसी के ऊपर हमला कर सकते हैं।

जिससे उनकी जान को जोखिम हो सकता है और वह घायल भी हो सकते हैं इस वजह से वन विभाग के कर्मचारियों ने सभी को अलर्ट जारी कर दिया है।

देखा जाए तो यह आए दिन ऐसी घटनाएं लखनऊ में होती रहती हैं। 

जिससे घटना होने की संभावना बनी रहती है यह तेंदुआ जैसी नीलगाय हो और आवारा पशुओं से फसलों को बचाने के लिए खेतों की रखवाली कर रहे किसानों ने भी रात को या रखवाली बंद कर रखी है।

बता दें कि करीब सप्ताह भर पहले एनबीआरआई जंगल के पीछे खेतों में अंधे पुर गांव के एक युवक ने तेंदुआ को देखने की सूचना अस्पष्ट की थी जिसके बाद पुलिस और वन विभाग के सारे टीम मौके पर आकर जांच जारी रखी और इस जांच में पाया गया कि वाकई में लखनऊ में घुस चुका है।


गोमती नदी के कछुआ और कठवारा जंगल में उसके भोजन पानी का व्यवस्था ठीक-ठाक हो जाता है जिसे तेंदुए का पेट भरा रहता है जिस वजह से वह घनी आबादी वाले क्षेत्र में अभी नहीं आ रहा है माना जा रहा है कि तेंदुआ शहर के विभिन्न ग्रामीण इलाकों से होकर बंथरा पहुंचा है

खुशख़बरी लखनऊ वासियों हो जाए तैयार जितने भी बेरोजगार मिलेगा रोज़गार।

खुशख़बरी लखनऊ वासियों हो जाए तैयार जितने भी बेरोजगार मिलेगा रोज़गार। 

रोज़गार को लेकर एक खुशख़बरी है हाई स्कूल से लेकर ग्रेजुएशन तक वैकेंसी वैकेंसी आई हुई है तो देखा जाए करो ना कॉल के बाद से रोज़गार की कमी मार्केट में है और आए दिन लोगों की नौकरियाँ जा रही हैं।

 

जैसे बड़ी-बड़ी है MNC कंपनियों से भी लोगों की नौकरी जा रही है बैटरी इंडस्ट्री में ही देखा जाए तो एकसाइड से कई अच्छे पायदान पर बैठे अधिकारी की भी आज नौकरी जा चुकी है। यूं कहें तो करोना ने कोहराम मचा दिया है। जिसे अभी तक निपटना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन सा नजर आता है। 

लेकिन इन सबके बावजूद भी मार्केट में कुछ ऐसी कंपनियां हैं जो बेरोजगार युवाओं को रोज़गार अवसर प्रदान कर रही है। 

अभी देखा जाए तो 18 से लेकर 35 वर्ष तक के रोज़गार युवा इस वृहद रोज़गार मेला में हिस्सा ले पाएंगे और अपने हिसाब से अपनी योग्यता के अनुसार नौकरी ले पाएंगे यह रोज़गार मेला 28 जनवरी को लगाया जाएगा।

सेवायोजन विभाग, और राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान ,की ओर से अलीगंज के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण, संस्थान में लगने वाले मेले में करीब 20 कंपनियां 1000 से अधिक युवाओं को नौकरी देगी। 

अगर आप चाहें तो इस मेले में आने वाली नौकरियों को भी आप ऑनलाइन घर बैठे फॉर्म फिल अप कर नौकरी पा सकते हैं। 

इस पोर्टल पर जाने के लिए आपको sewayojna.up.nic.in टाइप करना होगा और आप वहां पर जाकर उक्त अनुसार अपने योग्यता के अनुसार नौकरी ले सकते हैं।

हमारे खास बातचीत के अनुसार सुधा पांडे ने बताया कि क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय लालबाग लखनऊ व औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान अलीगंज लखनऊ व कौशल विकास मिशन के संयुक्त तत्वाधान में वृहद रोज़गार मेला लगेगा जिसमें युवा बेरोजगार अपने रोज़गार को पा सकते हैं।

हालांकि सरकार की मंशा के सापेक्ष यह  मेला लगाया जा रहा है। 

प्रदेश में स्थापित विभिन्न औद्योगिक क्षेत्र से संबंधित संचालक की व्यावसायिक शिक्षा प्रदान किया जा रहा है। 

इसमें सरकार बहुत ही मूलभूत सुविधाएँ के अनुसार रोज़गार प्रदान कर रही है सरकार का कहना है जिस हिसाब से बेरोज़गारी बढ़ रहे हैं और रोज बढ़ ही रही है तो उसे अनुकूल रखने के लिए इस तरह के रोज़गार मेला लगाया जाता है। 

और उक्त लोगों के हिसाब से उन को रोज़गार प्रदान किया जाता है.यह मेला  28 जनवरी को सुबह 10:30 बजे परिसर में लगने वाले मेले में सभी आने वाले युवाओं और युवतियों को मास्क लगाकर आना अनिवार्य होगा अन्यथा वह इस परिसर में एंट्री नहीं पा पाएंगे। 

हाल फिलहाल के वेब सीरीज तांडव अहम  किरदार में सैफ अली खान किरदार निभा रहे हैं .विवादों में क्यों आई।

हाल फिलहाल के वेब सीरीज तांडव अहम  किरदार में सैफ अली खान किरदार निभा रहे हैं .विवादों में क्यों आई। 

 

 लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में तांडव वेब सीरीज के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराया गया है। fir दर्ज करने और कराने  वालो का  कहना है की यह वेब सिरिज जाती आधार पर बनाई गई है। जिस से समाज में अस्थिरता पैदा होने की संभवाना हो जाएगी लोग राजनीती रोटी सेकने को भी त्यार हो गए है। 

तांडव अभी फ़िलहाल नई वेब सिरिज है जो अमेज़न कंपनी के संचालन के अनुसार बनाई गई है इसमें मुख्य कलाकार सैफ अली खान है। कृतिका कमरा ,शोनली नागरानी मेन किरदार में है। TANDAV,SAIF ALI KHAN ,KRITIKA KAMRA ,SHONALI NAGRANI ,

उत्तर प्रदेश में इस वेब्सिरिज पर FIR होने के बाद हजरत गंज के SI अभी तत्काल मुंबई रवाना हो गए है। कुछ अहम् मुद्दों पर उनकी बातये होने वाली है जिसमे अमेज़न कंपनी के मुख्य अधिकारी भी शामिल होने वाले है।

 सैफ अली खान
सैफ अली खान

देखा जाए तो पुलिस टीम वेब सीरीज के लेखक निर्माता निर्देशक और हेड इंडिया ओरिजिनल कंटेंट अमेजन की तलाश में   जांच पड़ताल मैं मसगुल रहेगी एफ आई आर दर्ज कराने वाले शुक्ला जी के अनुसार बताया गया है कि इसमें कुछ खास तबके के लोग हैं जो इस वेब सीरीज को बनाकर जाति धर्म पर लोगों को तुड़वाने तथा धार्मिक स्थल पर आहत पहुंचाने के लिए इस तरह की वेब सीरीज को बना रहे हैं। 

 

इस वेब्सिरिज से हमारे समाज में अस्थिरता पैदा करने की साजिश रची जा रही है। 

इस जांच में अनिल सिंह द्वारा जो एसआई हजरतगंज के इंस्पेक्टर हैं वह इस वेब सीरीज के निर्माता एवं निर्देशक अली अब्बास प्रड्यूसर हिमांशु कृष्ण मेहरा लेखक गौरव सोलंकी और हेड इंडिया ओरिजिनल कंटेंट अमेजन के अपर्णा पुरोहित के ठिकानों पर भी जाएगी और वहां पर उसे खास तरह की पूछताछ करेगी।

जिससे उनको यह साबित करना होगा कि यह कंटेंट या वेब सीरीज किसी जाति धर्म को या किसी टारगेटेड धर्म को निशाने नहीं बना  रही है इस वेब्सिरिज से किसी भी जाती धर्म को नुकसान नहीं होगा समाज में आराजकता पैदा नहीं करेगी।

 सब बातो को काफी विवेचन के बाद हो सकता है कि इस वेब सीरीज लॉन्च की जाए। 

 

लखनऊ वासियों के लिए एक महत्वपूर्ण सूचना। 

लखनऊ वासियों के लिए एक महत्वपूर्ण सूचना। 

  •  लखनऊ वासियों को अब अपने घर में रखना होगा 4 कूड़ेदान वह तो पता ही है कि उत्तर प्रदेश के लोगों में सफाई अभियान की जागरूकता बिल्कुल कम है इसलिए उत्तर प्रदेश की सरकार ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए लोगों को बताया है कि कूड़ा घर से निकालना और सड़क पर फेंक ना बिल्कुल ना करें।

चाहे वह कूड़ा अनुपयोगी क्यों ना हो जाए बचा हुआ भोजन हो या फिर सब्जी के छिलके या कांच प्लास्टिक के डिब्बे टायर कुछ भी हो इन सारे गुणों को एक / कैटेगरी में डाला गया है।

जिसमें कि सारे कूड़े को अलग-अलग रूप में अलग-अलग में  रखा जाएगा  जिसमें सरकार द्वारा निर्देश दिया गया है।

 

इन कूड़ो की श्रेणी अलग अलग होगी सूखे को गीले को तथा अन्य को भी विभाजित कर दी गई है लखनऊ से इसकी सुरवात हो गई है। 

जो जल्द ही प्रदेश के हर शहर में हर मोहल्ले गली कूचे में जल्द से जल्द इसकी शुरुआत की जाएगी सरकार का कहना है कि घर से ही कूड़े को विभाजित कर अलग अलग श्रेणी में बाँट कर इन कूड़े को उपयोग में लाया जाए.

नगर निगम की तरफ से युवक युवती को इस काम में लगाया गया है। 

एहि युवत और युवती जो घर घर में  लोगों को कूड़े के रख रखाव और विभाजन को बरक़रार रखने के लिए लोगों कोसलहा देंगे और जागरूक भी करेंगे जिससे आने वाले समय में इसका काफी उपयोग हो पाएगा और जैविक खाद बनाया जाएगा।

लखनऊ के लोगों की कमी की वजह से विभाजन नहीं हो पाती थी जिस वजह से कूड़े को एक ही में मिला दिया जाता था जिससे कूड़ा और प्रदूषित और प्रदूषण फैलाने वाला हो जाता था।

जिस वजह से गंदगी और गली मोहल्ले शहर मेंगंदा दिखता था जिस वजह से सरकार ने कड़ा कदम उठाते हुए समस्या का समाधान निकाला है।  

 

अब यह तो देख लिया कि चार डब्बे में कूड़े रखने का प्रावधान बन चुका है। लेकिन इन चारों डब्बे में कैसे विभाजित किया जाएगा यह भी चलिए एक बार एक झलक मारते हैं। 

किस तरह से कौन से डब्बे में कोन  सा कूड़ा रखने का प्रबंध किया जाएगा। 

  •   नीले डब्बे में सूखा कचरा अखबार प्लास्टिक लोहा कपड़ा कांच पैकेजिंग मैटेरियल टूटे हुए खिलौने रखे जाएंगे। 

 

  •  हर डिब्बे में गीला कचरा किचन से बची हुई खाद सामग्री जैसे सड़ी हुई सब्जी बची हुई दाल चावल रोटी इन सब को हर डिब्बे में रखा जाएगा जिसे हम गीला कचरा कहते हैं जिससे प्रदूषण भी ज्यादा फैलता है। 

 

  •  पीले डब्बे में अवशिष्ट कचरा जैसे कि एक्सपायर मेडिसिन दवाई लिक्विड टिशु पेपर 3 इंच यह सब रखा जाएगा। 

 

  •  काले डिब्बे में घरेलू हानिकारक कचरा रखा जाएगा जैसे कि पेंट का डब्बा ट्यूबलाइट थर्मामीटर लीड एसिड बैट्री  इत्यादि

 एक्शन के अनुसार लखनऊ में नगर निगम ने बताया है।

हर दिन 13 से 14 टन कूड़ा निकलता है जिसमें से 50% गीला कूड़ा होता है 45% कूड़ा सूखा होता है जिसमें 5% अवशिष्ट और पूरा होता है। 

लखनऊ वासियों के लिए खुशखबरी कोरोना वैक्सीन लगाना हो गया शुरू।

लखनऊ वासियों के लिए खुशखबरी कोरोना वैक्सीन लगाना हो गया शुरू। 

 

लखनऊ  वासियों का इंतजार हुआ खत्म। 

लखनऊ में जिससे कोरोना का कहर जिस तरह लखनऊ के ऊपर बरस रहा था लोग आए दिन बीमार हो रहे थे और कोरोना से ग्रसित होते जा रहे थे आज उसी की दवाई आज  लखनऊ में आ चुकी है। 

हमनरे रक्षक डॉ को कोरोना वेक्सीन दिया जा रहा है जिसे से पहले वो सुरक्षित रहे जिस कारण से डॉक्टरों को लगाया जा रहा है। और वैक्सीनेशन होने की वजह से मार्केट में हर्षोल्लास का माहौल बनता जा रहा है।

 

देखा जाए तो यूं हमारे डॉक्टर पुलिसकर्मी कोरोना योद्धाओं से कम नहीं थे। 

डॉ  को अगर योद्धा भी कहा जाए तो सही होगा इन्होने ही देश को सुरक्षा कवच प्रदान किया था कई लोगो की जान बचाई थी अपनी जान को दांव पर लगा कर।

आज से इस कोरोना वेक्सीन को लगाने का अभियान सुरु किया गया 11:05 पर अभियान का शुभारंभ हुआ केजीएमयू में डॉक्टरों को सबसे पहले कोरोना वायरस का वेक्सीन लगाना प्रारंभ किया गया है।

हालांकि देखा जाए तो सरकार हर व्यक्ति को काफी गंभीरता से लेते सभी प्रदेश वासियों के लिए वेक्सीन की वयवस्था करने की तयारी में है। 

कड़ी बंदोबस्त के साथ वेक्सीन  लखनऊ पहुंचाया गया। 

कई अस्पताल में इसेडिस्ट्रीब्यूट किया गया और जरूरतमंदों को वैक्सीनेशन दिया गया जिसमें सबसे पहले हमारे डॉक्टर को लगाया गया वैक्सीनेशन तथा उनके बाद जो जरूरतमंद मरीज होंगे उनको भीकोरोना वेक्सीन मिशन दिया जाएगा। 

हालांकि सरकार का कहना है कि वैक्सीनेशन हमारे सारे प्रदेशवासियों को दिया जाएगा लेकिन अभी वैक्सीनेशन की मात्रा कम होने की वजह से सिर्फ उन जरूरतमंदों को ही दिया जाएगा जिनको इनकी सख्त से सख्त जरूरत है। 

लखनऊ वासियों के लिए चौंकाने वाला खुलासा  लखनऊ की महिलाओं मैं  लगी यह लत।

लखनऊ वासियों के लिए चौंकाने वाला खुलासा  लखनऊ की महिलाओं मैं  लगी यह लत। 

लखनऊ को कौन नहीं जानता पूरे देश में सबसे ज्यादा अगर कुछ प्रचलित है तो लखनऊ के जायके तहजीब खानपान लखनऊ को नवाबों का शहर कहा जाता है। 

 

लेकिन आजकल इस नवाबों के शहर में एक बहुत ही दिलचस्प खुलासा हुआ है जिसमें देखा गया है कि महिलाओं में भी मेट्रो सिटीज की तरह शराब पीने का चलन बढ़ चुका है। 

शहर में कई वाइन शॉप्स लिकर शॉप्स है जहां लखनऊ की महिलाएं आए दिन शराब  खरीदते नजर आती है देखा जाए तो  पुरुषों की तुलना में भी महिलाएं अब शराब पीने के मामले में कमतर नहींआंकी जा सकती।

 

शहर के शॉपिंग मॉल और इंजीनियरिंग कॉलेज के आसपास दुकानों में महिला बिना   किसी संकोच के शराब खरीदती आए दिन नजर आ जाती है। 

देखा जाए तो पहले से ही हाई क्लास की और महिलाओं में यह एक प्रचलन है शराब पीने की आज कल हाई सोसाइटी में भी  महिलाएं बेहद खुशी से  और पीती हैं और पिलाती हैं।

देखा जाए तो कोरोना काल के बाद से लोगों में शराब पीने की चलन बढ़ चुकी है। और शराब की बिक्री में भी काफी इजाफा पाया गया है लोगों में कोरोना के बाद से एक मानसिक तनाव होने की वजह से भी देखा जा रहा है।

आए दिन लोग शराब का चस्का ज्यादा लगा रहे हैं आए दिन लोग नौकरियां जा रही है लोग डिप्रेशन में आ रहे हैं तथा बिजनेस बंद हो रहे हैं जिस वजह से शराब का चलन प्रचलन बढ़ता जा रहा है अगर यही चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब दवा से ज्यादा लोग शराब खरीदते नजर आएंगे।