Claims in research – जल्द ही नया कोरोना वायरस फैलेगा दुनिया में तथा करेगा फेफड़ों पर वार।

Claims in research – जल्द ही नया कोरोना वायरस फैलेगा दुनिया में तथा करेगा फेफड़ों पर वार।

 

 

 

लखनऊ,( कुलसूम फात्मा ) दिन पर दिन कोरोना संक्रमितो की संख्या बढ़ने के पश्चात अब नए कोरोना वायरस ने भी इस दुनिया में अपनी जगह बनाने की ठान ली है। रिसर्च में पता चला है की यह दूसरा कोरोना वायरस भी सांस लेने में तकलीफ देने वाला है। यह भी फेफड़ों को इफेक्ट कर सकता है।

 

 

उत्तर प्रदेश की राजधानी में स्थित केजीएमयू हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने रिसर्च किया है की यह नया कोरोना वायरस    फेफड़ों को संक्रमित कर सकता है। इसके साथ ही नए कोरोना वायरस के सिम्टम्स पुराने कोरोना वायरस से मिल रहे हैं। पहले वायरस की तरीके से यह वायरस भी फेफड़ों पर ही हमला करेगा। इस कोरोना वायरस का नाम रिसर्च में पर्वो-4 वायरस दिया गया है।

 

डॉक्टरों ने इस वायरस का सास से संबंधित बीमारी के सीवियर एक्यूट रेस्पिरेट्री इनफेक्शन से जूझ रहे मरीज तकरीबन 271 लोगों पर रिसर्च किया।और रिसर्च के अंतर्राष्ट्रीय जर्नल आफ इनफेक्शियस डिजीज में पब्लिश  भी हो चुका है।

 

 

 

जाने कितने प्रतिशत लोगों में मिला वायरस ?

 

 

ये नया वायरस अभी तक के तकरीबन 26% लोगों में मिल चुका है। डॉक्टरों ने एसएआरआई से जूझ रहे 271 मरीजों पर रिसर्च किया जिसमें 26.55% मरीजों के फेफड़े इफेक्टेड मिले और इनमें 18.2% मरीजों में पर्वो-4 वायरस का संक्रमण मिला। बाकी बचे लोगों में अलग-अलग तरह के वायरस मिले।

Leave a Comment